Computer Network क्या है? परिभाषा, उपयोग और प्रकार की जानकारी हिंदी में

इस आर्टिकल में आप कंप्यूटर नेटवर्क क्या है (What is Computer Network?) इस बारे में जानेगें। आप सभी Internet से अच्छी तरह अवगत होंगे। यह एक प्रकार का Computer Network ही है, जिसके अंतर्गत दुनियाभर के सभी कंप्यूटर, मोबाइल फोन, लैपटॉप, सर्वर व अन्य कम्प्यूटिंग डिवाइस आपस मे कनेक्टेड है। इस विशाल Network का उपयोग करके ही आप अपने दोस्तों से कम्यूनिकेट कर पाते है, तथा इंटरनेट में मौजूद तमाम इन्फॉर्मेशन तक आपकी पहुँच हो पाती है।

computer network kya hai in hindi

नेटवर्क की परिभाषा

“एक Network (N/W) दो या दो से अधिक Computers (or Computing Devices) का समूह है, जो डेटा के आदान-प्रदान और संसाधनों को शेयर करने के उद्देश्य से आपस मे इंटरकनेक्टेड होते है।”

एक Computer Network स्थापित करने के लिये आमतौर पर विभिन्न Communication Channels — केबल्स, टेलीफोन लाइन्स, रेडियो वेव्स, सैटेलाइट्स, और इन्फ्रारेड लाइट बीम का उपयोग किया जाता है। आप एक केबल की मदद से अपने घर मे रखे दो Computer को कनेक्ट करके एक N/W बना सकते है। इससे आप उनके बीच फाइलों का आदान-प्रदान कर पाएंगे; साथ ही अन्य संसाधनों जैसे डिस्क स्पेस, एप्लीकेशन और पेरीफेरल डिवाइस (प्रिंटर, आदि) को शेयर करने में सक्षम होंगे। इस प्रकार के कंप्यूटर नेटवर्क को Peer-to-Peer Networks कहते है।

हालांकि एक N/W से जुड़े Computers की संख्या बहुत अधिक भी हो सकती है, जैसे: Internet. इन्हें Client-Server Networks कहा जाता है। इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) के अंतर्गत एक N/W पर मौजूद Computers को “Nodes” कहा जाता है; इसके अलावा वे कम्प्यूटिंग डिवाइस जो Network में मौजूद अन्य Computers (or Client) के लिए डेटा और अन्य संसाधन प्रदान करते है, उन्हें Server कहा जाता है।

कंप्यूटर नेटवर्क के उपयोग

एक Computer Network का उपयोग निम्नलिखित कार्यो के लिए किया जाता है:

  1. N/W से जुड़े दूसरे कम्प्यूटरों से ईमेल, वीडियो कॉल, इंस्टेंट मैसेजिंग और अन्य तरीकों से सीधे कम्यूनिकेट किया जा सकता है।
  2. एक Computer दूसरे Computer के साथ फाइल्स, डेटा और इन्फॉर्मेशन का आदान-प्रदान कर सकता है।
  3. N/W का उपयोग करते हुए विभिन्न हार्डवेयर संसाधनों जैसे: प्रिन्टर, स्कैनर और फोटोकॉपियर को कई Computers के बीच सांझा किया जा सकता है।
  4. अपनी कंपनी से सम्बंधित महत्वपूर्ण डेटा और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को एक केंद्रीय सर्वर पर स्टोर कर सकते है, जिससे N/W से जुड़े सभी Computers उन्हें आसानी से एक्सेस कर पाए।

फर्स्ट कंप्यूटर नेटवर्क का इतिहास

1960 के दशक की शुरुआत में US Department of Defence (DOD) द्वारा दुनिया का पहला Computer Network ― ARPANET (Advanced Research Projects Agency Network) बनाया गया। इसके अंतर्गत चार यूनिवर्सिटी जिसमें: UCLA, SRI, UCSB और University of Utah के Computers को वायर की मदद से आपस मे जोड़ा गया था। 29 अक्टूबर, 1969, को UCLA और SRI के बीच फर्स्ट मैसेज (Login) का आदान-प्रदान हुआ।

कंप्यूटर नेटवर्क के भाग – Components of Computer Network?

एक Computer Network स्थापित करने के लिए कुछ बेसिक कंपोनेंट्स जैसे ― N/W Devices, Transmission Media, N/W Interfaces और N/W Protocols की आवश्यकता होती है। आइए इन कंपोनेंट्स के बारे में विस्तार से जाने।

Network Devices

ये एक प्रकार के Networking Hardware होते है, जिनका उपयोग Computers और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को एक नेटवर्क से जोड़ने के लिए किया जाता है। ये कई प्रकार के होते है, कुछ प्रमुख Network Devices निम्नलिखित है:

  • Hub
  • Switch
  • Router
  • Modem
  • Gateway
  • Bridge
  • Repeater

Transmission Media

यह वह वास्तविक पथ है, जो किसी Computer Network पर इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल्स को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में ले जाने का कार्य करते है। इन्हें Communication Medium भी कहा जाता है। डेटा ट्रांसफर स्पीड, Network Media के प्रकार पर निर्भर करती है। इसके कुछ मुख्य उदाहरण निम्नलिखित है:

  • Wired Medium — Copper Coaxial Cables, Twisted Pair Cables and Optical Fiber Cables
  • Wireless Medium — Radio Waves, Infrared and Microwaves.

Network Interfaces

Network Interface आपके Computer और N/W के बीच मौजूद एक कनेक्शन पॉइंट है, जो किसी भी कंप्यूटिंग डिवाइस को Wired और Wireless कम्युनिकेशन की अनुमति देता है। यह एक Network Interface Card (NIC) के रूप में हो सकता है; यह Virtual Interface के रूप में हो सकता है, जिसका कोई फिजिकल अस्तित्व नही होता।

Network Protocols

Protocols, परिभाषित नियमों का सेट है, जिसे Computers द्वारा Network पर डेटा कम्युनिकेशन के लिए उपयोग किया जाता है। ये नियम Computers के लिए आम भाषा की तरह होते है। इससे वह एक-दूसरे से बातचीत करने और फाइलों का आदान-प्रदान करने में समर्थ हो पाते है। आसान भाषा मे ये भी कहा जा सकता है, कि Protocols यह निर्धारित करते है, कि एक N/W में विभिन्न कंप्यूटिंग उपकरणों के बीच डेटा कैसे प्रसारित किया जाएगा।

दो लोकप्रिय प्रोटोकॉल सूट है:

  • OSI Model (Open System Interconnection)
  • TCP/IP Model

Computer Network कितने प्रकार के होते है

Computer Network कई प्रकार के होते है, जो निम्नलिखित है:

  • Personal Area Network (PAN)
  • Local Area Network (LAN)
  • Wireless Area Network (WLAN)
  • Metropolitan Area Network (MAN)
  • Wide Area Network (WAN)

उप्पर बताए गए विभिन्न नेटवर्क और उनके उपयोग के बारे में विस्तार से जानने के लिए पढ़े ― Types of Computer Network in Hindi

कंप्यूटर नेटवर्क के फायदे – Features of Computer Network?

एक Computer Network स्थापित करने के निम्नलिखित फायदे होते है:

डेटा शेयरिंग (Data Sharing): कंप्यूटर नेटवर्किंग का सबसे बड़ा फायदा ये है, कि यूजर्स एक-दूसरे के साथ डेटा/फाइल्स को आसानी से शेयर कर सकते है।

यूजर कम्युनिकेशन (User Communication) : N/W से कनेक्टेड सभी यूजर, ईमेल, इंस्टेंट मैसेंजर और वीडियो चैट जैसी सुविधाओं का उपयोग करके आपस मे तेजी से कम्यूनिकेट कर पाते है।

रिसोर्स शेयरिंग (Resource Sharing): हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर रिसोर्स जैसे ― प्रिंटर, स्कैनर और एप्लीकेशन को एक मुख्य सर्वर पर स्टोर करने से एक कंपनी के अंदर मौजूद सभी कर्मचारी उन रिसोर्सेज का सांझा उपयोग कर पायेंगे। इससे कंपनी को प्रत्येक कर्मचारी के लिए अलग से इन रिसोर्सेज को खरीदना नही पड़ेगा।

बैकअप (Backup): चूंकि डेटा एक सेन्ट्रल सर्वर पर स्टोर होता है। ऐसे में अगर किसी कारणवश यूजर से डेटा खो जाता है, तो वह उसे पुनःप्राप्त कर पायेगा।

सुरक्षा (Security): N/W के अंतर्गत डेटा को अनधिकृत पहुंच से बचाने के लिए कई कदम उठाए जाते है। यह तय किया जाता है, कि कोई भी यूजर किसी अन्य यूजर की फाइल्स और एप्लीकेशन पर सेंध न लगा सके।

स्केलेबिलिटी (Scalability): इसका अर्थ है, कि Computer Network हमे नए डिवाइस को उसमें जोड़ने की अनुमति देता है। इससे एक N/W का विस्तार करने में सुविधा होती है।

विश्वसनीयता (Reliability): इसका मतलब है, कि N/W भरोसेमंद होना चाहिये। ताकि हार्डवेयर विफलता या कनेक्टिविटी से सबंधित कोई समस्या आने पर तुरंत उसका निवारण किया जाए। जिससे सब कुछ बिना रुकावट के काम कर पाए।

कंप्यूटर नेटवर्क की चुनोतियाँ:

  • Computer Network स्थापित करने के लिये N/W Devices की आवश्यकता होती है, जो काफी महंगे होते है।
  • नेटवर्क सिक्युरिटी एक बड़ी चुनौती है। क्योंकि सिस्टम तक अनधिकृत पहुंच और साइबर अटैक का खतरा हमेशा बना रहता है।
  • खराब नेटवर्क परफॉरमेंस के कारण यूजर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसके लिये जरूरत है, एक High Speed Internet की।
  • एक बड़े Computer Network को मैनेज करने के लिये विशेष ट्रेनिंग की आवश्यकता होती है, अन्यथा आपको एक नेटवर्क मैनेजमेंट टीम को काम पर रखना होगा।

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है – What is Computer Network in Hindi?

Computer Network, कंप्यूटरों का एक समूह है, जो किसी ट्रांसमिशन मीडियम जैसे ― केबल का उपयोग करके आपस मे एक-दूसरे से जुड़े होते है। इससे वह आपस मे इन्फॉर्मेशन का आदान-प्रदान कर पाते है, तथा प्रिंटर जैसे संसाधनों का सांझा उपयोग करने में सक्षम होते है। एक N/W स्थापित करने के लिये कई प्रकार के नेटवर्क कंपोनेंट्स की आवश्यकता होती है।

उम्मीद है, इस लेख के माध्यम से आपको कंप्यूटर नेटवर्क क्या है (What is Computer Network?) इस बारे में जानकारी हो गयी होगी। अपने सवाल और सुझाव नीचे कमेंट के माध्यम से हमारे साथ सांझा कीजिये। अंत में पोस्ट ज्ञानवर्धक लगी हो तो कृपया इसे Social Media पर Share जरूर करे, ताकि आपके माध्यम से अन्य लोगों तक यह जानकारी पहुंच पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here