Difference Between Internet and Intranet in Hindi – इंटरनेट और इंट्रानेट में अंतर क्या है?

3

Internet और Intranet दो ऐसे शब्द है, जो अपनी meaning को लेकर लोगों के बीच काफी confusion पैदा करते है. यदि दोनों के शब्दों पर ध्यान दे तो सिर्फ one alphabet का difference है. इनके बीच एक similarity ये भी है, कि दोनों Network से सम्बंधित है. तो इस पोस्ट में हम इंटरनेट और इंट्रानेट में अंतर (Difference Between Internet and Intranet in Hindi) को जानेगें.

Internet और Intranet में मुख्य Difference

Difference between Internet and Intranet in Hindi

इन दोनों के बीच मुख्य difference ये है कि, Internet एक “Global network” है, जिसके अंतर्गत दुनियाभर के उपकरण आपस मे जुड़कर एक-दूसरे के साथ जानकारी सांझा करते है. जबकि Intranet एक “Private Network” है जिसका उपयोग सिर्फ authorized user ही कर सकता है. इसका इस्तेमाल अक्सर किसी organizations या private community द्वारा किया जाता है. इनके बीच अंतर को और बारीकी से समझने के लिये हमें Internet और Intranet क्या है? इसे अच्छे से समझना होगा.

Internet क्या है

जैसा हम जानते है इंटनरेट Interconnected computers का एक network है, जिसे Global Network कहा जाता है. इसे हम एक जरिया भी कह सकते है जो विभिन्न devices के बीच connection स्थापित करता है, जिससे उनके बीच transmission सम्भव हो पाता है. Internet के उपयोग से Web पर किसी भी information, resources, और services को access किया जा सकता है.

क्योंकि Internet एक public network है, इसलिए इसका उपयोग कोई भी कर सकता है. Internet में किसी भी information जैसे- data, audio, video etc. को access करने के लिये हम wired (telephone wires and fiber optic cables) और wireless (Wi-Fi and 3G/4G) दोनों तरह की technology का use करते है.

तो Internet एक खुली संस्था (open entity) है, जिसे दुनिया मे कोई भी व्यक्ति access कर सकता है. उसके लिए आपको अपने Computer अथवा phone को Internet से connect करना होगा. इंटरनेट से जुड़ने के लिये आपको इन चीजों की आवश्यकता होगी:

  • Computer और Mobile Device
  • Internet Plan जिसे Internet Service Provider (ISP) से Buy करना होगा
  • Dial Up Acces के लिये Modem और Telephone Line
  • एक Browser जानकारी तक पहुचने के लिए.

Intranet क्या है

Intranet एक Private Network है, जिसको सिर्फ specific group of people द्वारा ही access किया जा सकता है. ये हर किसी के लिये उपलब्ध नही होता. इसका उपयोग अक्सर organizations, corporations, government agencies और universities द्वारा किया जाता है. कंपनियां Intranet की मदद से company information और computing resources को अपने employees के बीच securely share करते है.

हालांकि Intranet, Internet के समान ही एक network है, जिसमे कई computers interconnected होते है यानी एक-दूसरे से जुड़े होते है. लेकिन इंट्रानेट closed network के भीतर operate होता है अर्थात सिर्फ authorized user ही इसका access प्राप्त कर सकते है. ये उन संस्थाओ के लिए फायदेमंद है जो company information को निजी तौर पर (Privately) submit और exchange करना चाहते है.

तो आप Intranet को Internet का प्रतिबंधित संस्करण (restricted version) भी कह सकते है, जो किसी भी outsider को network के भीतर allow नही करता. संस्था के employees को इसे access करने के लिये कभी-कभी ID और password की आवश्यकता भी पड़ती है. इसलिए Intranet को इंटरनेट की तुलना में एक secure information-sharing system माना जाता है. एक secure और विश्वसनीय Intranet को set up करने के लिये इन component की आवश्यकता होती है:

  • PCs
  • Server
  • Firewall
  • Content Management Software
  • Other Application software

Key Differences

Sr. No.INTERNETINTRANET
1एक Public Network है, कोई भी Internet को access कर सकता है.ये एक Private Network है, जिसे सिर्फ authorized users द्वारा ही access किया जा सकता है.
2Internet सबसे largest network है इससे connected devices के आधार पर.ये एक small network है, जिससे connected devices की संख्या थोड़ी होती है.
3ये दुनियाभर में जानकारी सांझा करने का एक साधन है.Intranet एक organization के भीतर सवेंदनशील या गोपनीय जानकारी सांझा करने का साधन है.
4Internet काफी हद तक unsafe है इसकी सुरक्षा नेटवर्क से जुड़े डिवाइस के उपयोगकर्ता पर निर्भर है.Intranet अधिक safe है, नेटवर्क की सुरक्षा एक firewall के माध्यम से enforced की जाती है.
5इसका कोई मालिक नही है अर्थात Internet किसी भी authority द्वारा regulated नही है.Intranet को किसी organization या company द्वारा operate किया जाता है.
6Internet में मौजूद information को कोई भी access कर सकता है.सिर्फ organization के member ही network में मौजूद information को access कर सकते है.
7Internet एक Independent network है अर्थात इसके इस्तेमाल करने पर कोई प्रतिबंध नही है.हालांकि Intranet को Internet के द्वारा access किया जा सकता है, लेकिन ये एक password द्वारा protected होता है और इसे केवल authorized users ही access कर सकते है.
8इंटनेट में unlimited information संग्रहीत होती है.जबकि इंट्रानेट में कुछ विशिष्ट समूह की limited information संग्रहीत होती है.
9ये Network of Networks है इसमे विभिन्न प्रकार के नेटवर्को (LAN, MAN, WAN) को मिलाकर एक नेटवर्क तैयार किया जाता है.Intranet मुख्य रूप से Local area network (LAN) से मिलकर बनता है.
10इंटरनेट का उपयोग करने के लिये किसी भी परीक्षण की आवश्यकता नही है.नेटवर्क के साथ काम करने के लिये उपयोगकर्ता को प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है.

इंटरनेट और इंट्रानेट के बीच समानताएं

Internet और Intranet में निम्नलिखित Similarities है:

  1. सबसे पहली समानता ये कि Internet और Intranet दोनों ही networks है.
  2. दोनों का उपयोग network पर information को exchange और share करने के लिये किया जाता है.
  3. दोनों data को transfer करने के लिये Internet Protocol (TCP/IP, HTTP and FTP) का उपयोग करते है.
  4. Internet की तरह ही Intranet को भी Web browser के द्वारा access किया जाता है.
  5. Internet, email और instant messenger जैसे communication tools को support करता है, वही आधुनिक intranet भी संगठन के भीतर खुद के messenger और email platform की सुविधा देता है.

Conclusion

इस लेख में आपने इंटरनेट और इंट्रानेट में अंतर (Difference Between Internet and Intranet in Hindi) को जाना. जिसके अंतर्गत हमने आपको बताया कि कैसे ये दोनों एक दूसरे से अलग है. हालांकि दोनों का उपयोग अलग-अलग उद्देश्य के लिये होता है. जहां Internet का उपयोग कर आप किसी भी तरह की जानकारी तक पहुँच सकते है. वही Intranet एक कंपनी की information और resources को access करने के लिये employees को secure platform प्रदान करता है.

सम्बंधित पोस्ट-

3 COMMENTS

  1. मैंने आपके बहुत सारे आर्टिकल पढ़े है, आप बहुत ही सटीक जानकारी देते है। ये बहुत ही अच्छी जानकारी है। इसको पढ़ कर मुझे इससे जुडी सारि चीज़े पता चल गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here