How to Root Android Phone in Hindi?

इस पोस्ट How to Root Android phone in Hindi में आप फोन को रुट कैसे करते है इस बारे में सीखेंगे। Phone को root करना बेहद आसान है। प्ले-स्टोर में कई सारे Android rooting apps उपलब्ध है, जिनके उपयोग से सिर्फ एक click में आप अपने phone को root कर देंगे। पर कई उपयोगकर्ता को ये doubt रहता है, कि क्या phone को root करना सही है? फोन को रुट करने से क्या होता है। फ़ोन रुट करने के क्या नुकसान है?

अगर आप ये सब जाने बिना अपनी device को root कर रहे है। तो जरा रुकिए इसके बारे थोड़ा समय निकालकर पढ़िए और समझिये। तो सबसे पहले आपको Phone rooting क्या है? इसे समझने की जरूरत है।

फोन रुट करना क्या है? (What is Rooting in Android Device)

Rooting एक ऐसी प्रकिया जिसके माध्यम से आप phone की system directory पर full access प्राप्त कर सकते है। इसके आलावा phone के operating system को operate करने के तरिके में भी बदलाव कर सकते है।

Root किए गए phone के साथ, आप ऐसे unapproved apps अक्सर जिनको install करने के अधिकार आपको प्राप्त नहीं होते है को इस्तेमाल कर सकते है। यहां तक की आप pre-installed apps को भी uninstall कर सकते है।

तो किसी android device को root करने का मतलब है की आपको phone के administrative privileged पर control प्राप्त हो चूका है जिसके बाद आप system को अपने हिसाब से customize कर सकते है।

हालाँकि phone को root करने में कई risk भी है इसलिए अक्सर आपसे फोन को रुट नहीं करने को कहा जाता है। तो निचे android device को root करने के फायदे और नुकसान को पढ़ने के बाद ही आगे के स्टेप्स करे।

सम्बंधित पोस्टफ़ोन से डिलीट हुई फाइलों को रिकवर कैसे करे

फ़ोन को रुट करने के फायदे – Benefits of Rooting a Phone

जब आप android device को Root करते है, तो आपके पास phone के कई sub-systems पर control हो जाता है। जिसके बाद ऐसे उपयोगकर्ता को सुपर यूजर भी कहा जाता है जिसके कई फायदे है।

  • कुछ ऐसे apps होते है, जिन्हे आपका सिस्टम इनस्टॉल करने की अनुमति नहीं देता या वे बेहतर तरिके से काम नहीं कर पाते है। तो rooted phone में आप उन Incompatible apps को Install कर पाएंगे।
  • हमारे phone में पहले से ही कई ऐसे unwanted pre-Installed apps होते है, जिनका हमारे फ़ोन में ज्यादा काम नही होता है। phone को root करने के बाद आप ऐसे apps को uninstall करके अपने phone space को free कर सकते है।
  • आप अपने android phone की performance को better करने के साथ – साथ phone की battery life को भी increase कर सकते है।
  • अभी तक आप सिर्फ pre-installed themes का ही use कर सकते थे, लेकिन phone को root करने के बाद आप custom theme को भी लोड कर सकते है।
  • आप अपने phone में custom ROM install कर सकते है इससे आपके फोन की processing speed काफी improve हो जाएगी
  • Rooted Android phone पर आप ADS को पूरी तरह से blocked कर सकते है।

फ़ोन रुट करने के नुकसान – Disadvantages of Rooting Android Device

फ़ोन को रुट करने के कई नुकसान भी है जो आपको पता होने चाहिए। निचे फोन रुट करने के जोखिम बताये गए है उन्हें पढ़े और खुद निर्णय करे:

  • अगर आप phone root करते है, तो आपकी warranty ख़त्म हो जाती है। फ़ोन में कोई समस्या आने पर आपका manufacturer’s उसे replace करने से मना कर देगा।
  • यदि root करते वक्त कोई problum आती है, तो आपका phone dead (खराब) भी हो सकता है।
  • आपका स्मार्टफोन वायरस, मैलवेयर, एडवेयर और सभी तरह के क्रैपवेयर का निशाना बन सकता है। जब आप rooted phone में किसी सॉफ्टवेयर के कोड में बदलाव करते है, तो वायरस फैलने की होने की संभावना बढ़ जाती है
  • phone root करने के बाद android का कोई भी latest version आपको नही मिलता है लेकिन आप custome version को install कर सकते है।

ये थे कुछ disadvantages जिन्हे ध्यान में रखते हुए ही आपको निर्णय लेना चाहिए कि phone को root करना है या नहीं। लेकिन अगर आपको लगता है फ़ोन को रुट करना अधिक फायदेमद है तो आप निचे बताये स्टेप्स को फॉलो कर सकते है।

How to Root Android Phone in Hindi

अपने phone को root करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना है जैसे:

  1. Root करने से पहले phone का full backup ले ले।
  2. फ़ोन की Privacy Setting में जाकर Unknown Sources को allow करे।
  3. Rooting process में समय लग सकता है इसलिए mobile की battery को कम से कम 30% charge करके रखे।
  4. यदि फ़ोन एक बार में रुट ना हो तो फ़ोन में USB Debugging और OEM Unlocking के option को enable कर ले। इसके लिए आपको Phone Setting में जाना है और About Phone के विकल्प पर tap करना है। इस सेक्शन में आपको Build number पर 6 से 7 बार tap करना है इससे आपके फ़ोन का Developer option enable हो जायेगा।
  5. अंत में Phone Setting में ही आपको Developer option को खोजना है और USB Debugging और OEM Unlocking को Enable कर देना है।

KingRoot से Phone को Root करने के स्टेप्स

स्टेप 1: इस लिंक पर जाकर Kingroot App को Download कर लीजिये।

स्टेप 2: ऐप ओपन करे और ‘Try to Root’ पर tap कर दे।

Try King Root tool

स्टेप 3: अब root process शुरू हो जाएगी इसमें कुछ मिनट लगेंगे आपको इंतजार करना है। बिच-बिच में phone restart हो सकता है दुबारा ऐप खोलिये और root process को continue कीजिये।

Phone Rooting Process

स्टेप 4: जैसी ही rooting 100% हो जाएगी आपकी फ़ोन स्क्रीन पर Green Tick दिखाई देगा इसका मतलब है आपका Phone Successfully Rooted हो चूका है।

तो इस तरह से Phone rooting tools का उपयोग करके आप अपने फ़ोन को सफलतापूर्वक रुट कर सकते है। डिवाइस को रूट करना हमेशा एक नाजुक प्रक्रिया होती है, इसलिए सही स्टेप फॉलो और इसमें शामिल जोखिमों से अवगत रहें।

सम्बंधित पोस्टफोन के पैटर्न लॉक को अनलॉक कैसे करे

हालाँकि KingRoot एक ऐसा ऐप है जिसकी मदद से आप अपने एंड्रॉइड डिवाइस को कुछ ही सेकंड में बिना किसी दिक्क्त के रूट कर सकते हैं। अगर आप असफल हो रहे है तो इन दूसरे ऐप का उपयोग करे।

5 Best Android Root Apk

  1. Kingo Root – https://root-apk.kingoapp.com/
  2. Super SU – https://supersuroot.org/
  3. Farmaroot – https://framaroot.vip/apk/
  4. iRoot – https://irootapk.com/
  5. One-Click Root – https://www.oneclickroot.com/

कैसे पता करे Phone Root है या नहीं?

ये check करने के लिए कि phone root हुआ है या नहीं? आप Root Checker tools की मदद ले सकते है। निचे दिए स्टेप्स को फॉलो करके आप कुछ मिनट में ऐसा कर सकते है।

स्टेप 1: प्ले-स्टोर से Root Checker को Install कर ले।

स्टेप 2: ऐप ओपन करे और रुट चेक करने के लिए ‘Verify Root’ पर tap करे।

Root Checker tool

स्टेप 3: इस स्टेप में आपको पता चल जायेगा की आपका phone root हुआ है या नहीं। निचे इमेज देखे फ़ोन रुट ना होने की स्थिति में ऐसा मैसेज दिखाई देता है।

Verify Root Status

सम्बंधित पोस्टएंड्राइड फोन को अपडेट कैसे करते है

पोस्ट समाप्ति

तो इन Phone rooting tools का उपयोग करके आप अपने android device को बस one click में root कर सकते है। लेकिन अपनी डिवाइस को रुट करने के क्या नुकसान है, इसको भी आपने जानना चाहिए। अक्सर उपयोगकर्ता अपने phone को इसलिये root करते है क्युकी उन्हें third party application को अपने डिवाइस में download करना होता है।

उम्मीद है ये पोस्ट How to Root Android Phone in Hindi? को पढ़कर आप अपने फोन को rooted device में बदल पाये होंगे। रूटिंग बहुत गम्भीर प्रकिया है इसलिए किसी तरह की समस्या आने पर आप हमें निचे Comment में पूछ सकते है। अंत मे अगर पोस्ट आपको ज्ञानवर्धक लगी हो तो कृपया इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम निर्मल सिंह खोलिया है ,और में इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ। मेने कंप्यूटर साइंस में स्नातक की हुयी है, और मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित जानकारी शेयर करना बेहद पसंद है। अगर आप टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर और इंटरनेट से संबंधित विषयो में रूचि रखते है, तो यह ब्लॉग आपके लिए ही बनाया गया है। मुझसे जुड़ने के लिए आप मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है।

6 COMMENTS

  1. Thank you very much – Really aapki “Android phone ko root ” karne ke bare me bahut acchi post share Kiya Iska aapka taha diol se welcome. Aapki post me bataye rule ka Kuch android mobile me follow karne ke baad bhi apna android phone root Nahi ho data hai. Isliye jis ka phone root hones me kuch problem hai ya failed problem hai is article ko jarur read kare kyoki mere ko bhi Yahi problems ko face karna pada tha.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here