What is Artificial Intelligence क्या है और इसका महत्व ।

नमस्कार दोस्तो NayaSeekhon के इस लेख What is Artificial Intelligence in hindi में आप जानेंगे क्रत्रिम बुद्धिमत्ता या Artificial intelligence क्या है?। दोस्तो मनुष्यों को इस पृथ्वी में सबसे सर्वोच्च बनाने वाली चीज है, Intelligence. इसने हमारी skill improve करने और Human civilization यानी मानव सभ्यता की स्थापना में सबसे अहम भूमिका निभाई है। आज अगर इंसानो ने technology के क्षेत्र में इतना विकास किया है, तो उसमें हमारे human brain का सबसे बड़ा हाथ है।

Artificial intelligence kya hai

अपनी इस बुद्धि के बल पर इंसानो ने कई invention यानी अविष्कार किये है और यह बताने वाली बात नही कि हर अविष्कार ने मनुष्यो की जिंदगी को एक नई दिशा दी है। जब computers बने थे तो किसी से सोचा तक नही था कि हम भविष्य में smartphone जैसी किसी चीज का इस्तेमाल कर पाएंगे । लेकिन आज यह हमारी जिंदगी का हिस्सा ही नही बल्कि हमारे किसी भी काम मे बहुत मदद करता है।

पिछले कुछ सालों में technology को एक अलग स्तर में ले जाने के लिये Computer science के कुछ scientist ने AI Concept को दुनिया के सामने रखा था। इसका मूल मकसद ऐसे computer controlled robot या software बनाना था जो इंसानो की तरह सोच कर किसी समस्या का हल निकाल सके। लेकिन कई दूसरे scientist का मानना है कि technology में इस तरह के development machines को super intelligence बना सकता है। जो आगे चलकर मानव अस्तित्व को खतरा पैदा करेगा।

Artificial intelligence या machine learning इंसानो के लिए कितनी फायदेमंद होगी यह तो आने वाला future ही बताएगा। फिलहाल अभी हम आपको बताते है कि Artificial intelligence (AI) क्या है?


कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्या है (What is Artificial Intelligence in Hindi)

Artificial Intelligence (AI) या कृत्रिम बुद्धिमत्ता Computer science की एक शाखा है, जो ऐसी machines को विकसित कर रही जो humans की तरह सोच सके और कार्य कर सके। उदाहरण के लिये, speech recognition, problem solving तथा learning और planning. यह मनुष्यों और जानवरों के द्वारा प्रदर्शित Natural intelligence के विपरीत Machines द्वारा प्रदर्शित intelligence है।
इसके द्वारा एक ऐसा computer controlled robot या एक ऐसा Software बनाने की योजना है, जो वैसे ही सोच सके जैसे human mind सोचता है। Artificial Intelligence को इसमे परिपूर्ण बनाने के लिए उसे लगातार तैयार किया जा रहा है। इसके प्रशिक्षण में इसे मशीनों से अनुभव सिखाया जाता है, नए input के साथ तालमेल बनाने और मानव जैसे कार्यो को करने के लिए तैयार किया जाता है।

>Introduction of PHP in hindi : PHP क्या है?

कुल मिलाकर Artificial Intelligence एक interdisciplinary concept है। जिसके द्वारा ऐसी machines बनाई जा रही है, जो अपने environment के साथ interact करके received data पर खुद बुद्धिमानी से कार्य कर सकती है। यानी अगर future में AI concept और मजबूत होता है, तो यह हमारे दोस्त जैसा होगा। अगर आपको कोई problum आयेगी तो उसके लिए क्या करना है यह आपको खुद सोच कर बतायेगा। मूल रूप से Artificial Intelligence (AI) एक machine या computer program की सोचने और सीखने की क्षमता है। यह अवधारणा इस विचार पर आधारित है, कि मशीनों को इतना capable बनाया जाए की वह खुद किसी समस्या के बारे में इंसानों की तरह thinking, acting और learning कर सके।

Artificial Intelligence के Example

आज AI एक बहुत ही लोकप्रिय विषय है, जिसकी technology और business के क्षेत्रो में काफी चर्चा है। कई विशेषज्ञों और industry analysts का मानना है, की AI या machine learning हमारा future है। लेकिन अगर हम अपने चारों तरफ देखे तो हम पाएंगे की यह हमारा भविष्य नही बल्कि वर्तमान है। technology के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से Artificial Intelligence से जुड़े हुवे है और इसका फायदा भी ले रहे है। हां, यह बात जरूर है कि AI technology अपने पहले चरण में है। अभी हाल में कई companies ने machine learning पर काफी निवेश किया है। जिसके कारण कई AI product और Apps हमारे लिए उपलब्ध हुवे है। तो चलिये अब हम आपको आज इस्तेमाल होने वाले कुछ ऐसे AI example देते है, जिससे आप और अच्छी तरह से समझ पाएंगे कि Artificial Intelligence क्या है।

1. Siri

Siri के बारे में शायद आपने जरूर सुना होगा यह Apple द्वारा पेश किया गया सबसे लोकप्रिय personal assistant है। हालांकि यह सिर्फ iPhone और iPad में उपलब्ध है। यह AI का सबसे बेहतरीन उदाहरण है, इससे बस आप Hey Siri बोलिये और यह आपके लिए massage send कर सकता है, internet से information ढूंढ सकता है, voice call कर सकता है, कोई भी application open कर सकता है यहां तक कि timer set व calendar में event add करने जैसे कामो में आपकी सहायता कर सकता है।

Siri आपकी भाषा और सवालो को समझने के लिए machine learning technology का प्रयोग करती है। यह सबसे अनुकूल voice activated computer है। इससे related डिवाइस Alexa और Google Assistant भी है। जो similar काम लिए ही प्रयोग किये जाते है।

2. Tesla

न केवल Smartphones बल्कि Automobiles भी Artificial Intelligence की ओर बढ़ रहे है। अगर आप एक car geek है, तो आप tesla के बारे में जानते होंगे। यह अब तक उपलब्ध सबसे best Automobiles में से एक है। tesla car में न केवल self driving बल्कि productive capabilities और पूर्ण technological innovation जैसे feature उपलब्ध है। ऐसी ही न जाने कितनी self driving car और बन रही है जो आने वाले वक्त में और भी smart हो जाएगी।

3. Google Map


वैसे Google कई क्षेत्र में AI का इस्तेमाल करता है। लेकिन Google map में AI technology का अच्छा इस्तेमाल हुआ है। हमको किसी भी जगह का रास्ता बताने के लिए AI enabled mapping के साथ giant’s technology सड़क जानकारी को scan करती है और algorithms का प्रयोग करके सही route को हमे बताती है।


अभी Google ने अपनी voice assistant में implement करके और real time में augmented reality maps बनाकर अपने google map में Artificial intelligence को और आगे बढ़ाने की योजना बनाई है।

4. Nest


Nest सबसे प्रसिद्ध और Artificial intelligence startup में से एक था और इसे 2014 में Google द्वारा खरीद लिया गया । Nest learning thermostat आपके व्यवहार और schedule के आधार पर energy को बचाता है। ऐसा करने के लिए यह behavioral algorithm का उपयोग करता है। यह इतनी intelligent machine है, कि सिर्फ एक हफ्ते में ही आपके लिए उपयोगी temperature का पता लगा लेती है। अगर घर मे कोई न हो तो यह ऊर्जा बचाने के लिए automatically turn off हो जाती है।


5. Echo

Echo को Amazon द्वारा लांच किया गया था। यह एक ऐसा revolutionary product है, जो आपके सवालो के जवाब दे सकता है, आपके लिए audiobook पढ़ सकता है, आपको traffic और weather report बता सकता है, local businesses के बारे में जानकारी उपलब्ध करा सकता है तथा sports score और schedule भी प्रदान कर सकता है। Echo में और भी बड़े बदलाव किए जा रहे है जिससे यह नई सुविधाओं को जोड़ता जा रहा है। उम्मीद है, आने वाला वक्त Echo को और भी Smart बना देगा।

>Computer क्या है? Computer की परिभाषा क्या है?

>What is html in hindi (html क्या है?)

>Mobile App Kaise Banaye?

AI का इतिहास

1950 ही वो साल था जब Artificial intelligence research की शुरुवात हुई थी। Electronic computer और Stored program computer के विकास के साथ ही AI के क्षेत्र में research का काम शुरू हुआ। इसके बाद भी कई दशकों तक एक Computers किसी human mind की तरह सोच या कार्य कर पाए इसकी कोई कड़ी नही जुड़ पायी। आगे चलकर एक खोज जिसने AI के शुरुवाती विकास को बहुत हद तक बड़ाया वह Norbert Wiener द्वारा बनाई गई थी। उन्होंने यह सिद्ध किया कि इंसानो के सभी intelligent behaviour प्रतिक्रिया तन्त्र के परिणाम होते है। morden AI की दिशा में एक और कदम तब बड़ा जब Logic Theorist का निर्माण हुआ। 1955 में Newell और Simon द्वारा design किया गया यह first AI program माना जा सकता है।


Father of Artificial Intelligence (AI)

कई शोध के बाद अंततः जिस व्यक्ति ने Artificial intelligence की नींव रखी वह थे AI के जनक John McCarthy. यह एक American scientist और cognitive scientist थे। AI के क्षेत्र में और विकास करने के लिए उन्होंने 1956 में एक सम्मेलन “The Dartmouth summer research project on artificial intelligence” का आयोजन किया। जिसमे वो सभी लोग भाग ले सकते थे जो machine intelligence में रुचि रखते हो। इस सम्मेलन का मकसद रुचि रखने वाले लोगो की प्रतिभा और विशेषज्ञता को आकर्षित करना था ताकी वह इस काम मे McCarthy की मदद कर सके। बाद के वर्षों में AI research centers का गठन Carnegie Mellon University के साथ – साथ Massachusetts Institute of Technology में हुआ। इसके साथ ही AI को कई चुनोतियों का सामना भी करना पड़ा। पहली चुनौती जो उनके के सामने थी एक ऐसे system का निर्माण करना जो बहुत कम खोज करके किसी समस्या को कुशलता से हल कर सके। दूसरी चुनौती ऐसे systems का निर्माण जो खुद से किसी कार्य को सीख सकता हो।

Artificial intelligence के क्षेत्र में पहली सफलता तब मिली जब 1957 में Newell और simon द्वारा एक General problem solver नामक novel program बनाया गया। यह Wiener के फीडबैक सिद्धांत का विस्तार था। इसके जरिये सामान्य ज्ञान की समस्याओं का अधिक से अधिक समाधान किया जा सकता था। AI History में 1958 में John McCarthy द्वारा LSIP language का निर्माण किया गया। इसे जल्द ही कई AI researchers द्वारा अपनाया गया था और यह आज भी उपयोग में है।

AI के लक्ष्य

जैसा कि हम जानते है, कि AI पूरी दुनिया में सबसे शक्तिशाली और fast growing technology है। AI एक प्रकार की Artificial consciousness है जो मानव के निर्देश देने पर कार्य करती है। भले ही Artificial intelligence मनुष्यो द्वारा विकसित की गई है, लेकिन इसमें कोई संदेह नही की AI मनुष्यों की तुलना में अधिक कुशल, बेहतर और कम खर्च में काम करती है। इसीलिए अब कई business industry के field में AI को काम मे लिया जा रहा है। अभी कुछ हद तक AI हमारी daily life में आ चुकी लेकिन वो दिन दूर नही जब हम पूरी तरह से इस technology का उपयोग करने लगेंगे।

तो यह सत्य है, कि पूरी दुनिया मे AI का बहुत bright future है। भविष्य में ज्यादातर काम और कई क्षेत्र AI के ऊपर निर्भर होंगे। इसके साथ ही यह कयास भी लगाए जा रहे है, की यह मनुष्यों के जीवन पर बहुत बुरा प्रभाव डाल सकता है। तो चलिये अब आपको AI के कुछ लक्ष्यों को बताते है जिसे Achieve करके यह AI technology जल्द ही हम तक पहुच जाएगी।

Increase decision making power

AI का प्रथम लक्ष्य यही है, कि मनुष्यो की तरह सोचने वाली thinking machine को बनाया जाये। जो मानव की किसी भी समस्या को खुद से decision लेकर हल कर सके। इस दिशा में AI ने कुछ उपलब्धियां भी हासिल की है। अभी हाल में एक Female AI Robot (Sophia) को बनाया गया। इसके पास कुछ हद तक decision making power है और यह आपके किसी भी सवाल का जवाब आसानी से दे सकती है। ऐसे ही कुछ AI Concept आपको smart device में भी देखने को मिलेंगे जैसे Google home, Siri, Alexa इत्यादि।

Efficient Work

हम इंसान किसी कार्य को करने में काफी आलसी होते है, जिसके कारण हम अपने कामो को पूरा करने में बहुत ज्यादा समय लगाते है और उनमे ज्यादा गलतियां भी होती है। इंसानो की इसी आदत को देखते हुवे AI researchs इस दिशा में बहुत तेजी से काम कर रहे । इनका मूल मकसद AI को ऐसा बनाना है ताकि वो किसी भी कार्य को minimum fault में तेजी से कर पाये।

Time saving

जाहिर सी बात है, AI मनुष्यो की तुलना में काफी अधिक तेजी से काम कर सकता है। क्योंकि यह एक प्रकार की machine है, इसलिए यह काम करने में कभी नही थकता और हमारी तरह कभी break भी नही लेता। इस विषय को देखते हुवे कई ऐसी AI machines बनाई जा रही है, जो जल्द ही मनुष्यों की जगह लेलेगी।

Artificial techniques क्या है

AI technique एक तरीका है, जो derived knowledge का उपयोग करता है। ताकि इसे errors को correct करने के लिये संसोधित किया जा सके। AI technique एक statical और mathematical model के उन्नत रुपों से बने मॉडल है। ये मॉडल computer या machine के लिए उन कार्यो की गणना करने सम्भव बनाते है जो मनुष्यों द्वारा किये जाते है।

AI techniques

1. Artificial Natural Network.
2. Heuristics.
3. Markov Decision process.
4. Natural language processing


AI के प्रकार (types of artificial intelligence)

Technology के इस युग मे, Artificial intelligence सभी industries और कई क्षेत्रों में हावी होने लगी है। इसकी सबसे बड़ी वजह machines का मानव की तुलना में अधिक प्रभावी ढंग से कार्य करना है। तो वो दिन दूर नही जब किसी hollywood movies की तरह robots का दबदबा हमारी दुनिया पर होगा। AI या जिसे हम machine learning भी कहते है इसको दो प्रकार के मुख्य भागों में बांटा जाता है।


पहला भाग

Week AI – कमजोर बुद्धिमत्ता या Weak AI जिसे Narrow AI के नाम से भी जाना जाता है, यह पूरी तरह से Narrow task के कार्यो पर केंद्रित है। Weak AI किसी Strong AI या genral artificial intelligence के विपरीत किसी specific problem को पूरा करने के लिये होती है। यह machine अपना काम करने में बहुत smart नही होती है। परंतु उन्हें ऐसा बनाया जाता है कि वे स्मार्ट लगे। उदाहरण के लिये Ludo Game में जब आप Computer Mode खेलते है, तो एक तरफ से tokens खुद ब खुद बढ़ती जाती है। उसके ऐसा करने के लिए सारे rules व moves पहले से ही software में fed कर दिए जाते है।

Strong AI – मजबूत बुद्धिमत्ता या Strong AI जिसका उपयोग AI development के एक निश्चित mindset का वर्णन करने के लिए किया जाता है। इस का लक्ष्य उस बिंदु पर Artificial intelligence विकसित करना है, जहां मशीनों की Intellectual Capability कार्यात्मक रूप से इंसानो के बराबर हो। Strong AI ऐसी मशीनें बनाता है जो वास्तव में इंसान की तरह सोच और कार्य कर सकती है। अभी इसके कोई उचित मौजूद उदाहरण नही है लेकिन कुछ industry एक Strong AI build करने के काफी नजदीक पहुच चूकि है।


दूसरा भाग

Reactive Machines – यह machines बहुत basic होती है क्योंकि यह memory store नही करती है और future में किसी कार्य को करने के लिए अपने past experience का उपयोग भी नही कर पाती है। Reactive machine बस देख कर उस पर react करती है। IBM का deep blue जिसने शतरंज के grand master Kasparov को हराया। इसका एक अच्छा उदाहरण है।

Self Awareness – यह एक ऐसी Artificial intelligence है, जिसके पास अपनी खुद की conscious, self awareness और super intelligence होती है। सरल शब्दों में आप इसे एक तरह का human भी कह सकते है। लेकिन अभी तक इस तरह का bot उपलब्ध नही है। अगर भविष्य में यह मुमकिन हो सका तो AI के लिए यह बड़ी achievement होगी।

Limited Memory – यह ऐसे AI systems होते है, जो future decision को inform करने के लिए past experience का उपयोग कर सकते है। self driving cars में कुछ decision making functions को design किया गया है।

Theory of Mind – इस प्रकार की AI machines को लोगो के emotions, belief, thoughts, expectations और सामाजिक रूप से बातचीत करने में सक्षम बनाया जाता है। हालांकि इस क्षेत्र में काफी प्रयोग हुए है लेकिन अभी ऐसी कोई चीज निकलकर सामने नही आई जिससे यह सम्भव हो सके।


AI के Application

AI महत्वपूर्ण है क्योंकि यह विभिन्न उधोगों में जैसे कि मनोरजंन, शिक्षा, स्वास्थ्य, वाणिज्य, परिवहन और उपयोगिताओं में कठिन मुद्दों को हल करने में मदद कर सकता है। AI application को पांच श्रेणियों में बांटा जा सकता है।

Knowledge – दुनिया के बारे में जानकारी प्रस्तुत करने की क्षमता । जैसे वित्तीय बाजार व्यापार, खरीद भविष्यवाणी, धोखाधड़ी की रोकथाम, दवा निर्माण, चिकित्सा निदान, मीडिया की सिफारिश इत्यादि।

  • Knowledge – दुनिया के बारे में जानकारी प्रस्तुत करने की क्षमता । जैसे वित्तीय बाजार व्यापार, खरीद भविष्यवाणी, धोखाधड़ी की रोकथाम, दवा निर्माण, चिकित्सा निदान, मीडिया की सिफारिश इत्यादि।
  • Reasoning – Logic deduction के माध्यम से समस्याओं का हल करने की क्षमता। जैसे वित्तीय परिसम्पत्ति प्रबन्धन, कानूनी मूल्यांकन, वितीय अनुप्रयोग प्रसंस्करण, स्वायत्त हतियार प्रणाली, खेल इत्यादि।
  • Comnucation – बोले जाने वाली और लिखित भाषा को समझने की क्षमता । जैसे बोले जाने वाली और लिखित भाषाओं का वास्तविक समय अनुवाद, वास्तविक समय प्रतिलेखन, बुद्धिमान सहायक, आवाज नियंत्रण इत्यादि।
  • Planning – लक्ष्य निर्धारित करने और प्राप्त करने की क्षमता। जैसे inventory management, भाग पूर्वानुमान, भविष्य कहने वाला रखरखाव, भौतिक और डिजिटल नेटवर्क अनुकूलन, नेविगेशन इत्यादि।
  • Perception – ध्वनियों, चित्रो और अन्य संवेदी आदानों के माध्यम से दुनिया के बारे में चीजों का अनुमान लगाने की क्षमता। जैसे चिकित्सा निदान, स्वायत्त वाहन, निगरानी इत्यादि।

Artificial Intelligence और Human Intelligence के बीच अंतर

AI व Human intelligence के बीच difference या मतभेद को समझने के लिए पहले हमें जानना होगा कि intelligence क्या है। अगर एक छोटी परिभाषा दे तो हमारी बुद्धि या intelligence में किसी information को प्राप्त करने की क्षमता, experience से सीखने की क्षमता देखकर समझने और ढंग से विचार करने की क्षमता होती है। अपने natural behavior के कारण यह intellect cognitive कार्यो जैसे perception, memory, language और planning को एकत्रित करती है। तो चलिये अब Artificial intelligence और Human intelligence के अंतरो को विस्तार से अध्यन करते है।

Human Intelligence

Human intelligence को दिमाग की गुणवत्ता के रूप में परिभाषित किया जाता है। इसके अंदर past experience से अनुभव लेने, situation के अनुकल reat करने की ताकत, विचारों से निपटने और gained knowledge का उपयोग करके स्वयं को परिस्थिति से बाहर निकालने की क्षमता होती है। Human intelligence की energy efficiency लगभग 25 watts होती है। मानव सैकड़ो skills को manage करना अपनी जिंदगी से सीखता है। मानव में experienced scenarios से decision लेने की क्षमता होती है। Human Brain एनालॉग होता है।

Artificial Intelligence

AI का क्षेत्र उन machines को design करने में केंद्रित है, जो human behaviour की नकल कर सके। Robots वैज्ञानिक द्वारा design किये गए instructions का उपयोग करते है। AI को intelligent agent द्वारा study और design किया जाता है। AI research कई क्षेत्रो के tools और insights का प्रयोग करता है। यह robotics central system जैसे कार्यो के लिए भी overlap करता है। AI की energy efficiency एक modern machine या learning machine में 2 watts होती है। प्रत्येक जिम्मेदारी पर system को सिखाने के लिए समय काफी अधिक लगता है।

Conclusion

तो कुल मिलाकर AI expert का मानना है कि AI future में कुछ भी करने में सक्षम होगा। यह किसी भी काम को इंसानो से बेहतर कर पायेगा। तो चलिए देखते है आने वाले समय मे यह human life को कितना प्रभावित करता है। तो दोस्तो उम्मीद करते है, यह पोस्ट Artificial intelligence (AI) क्या है? (What is Artificial intelligence in hindi) आपको पसंद आयी होगी और बतायी गयी जानकारी से आपको AI को समझने में काफी मदद मिली होगी। लेकिन अगर पूरी पोस्ट में किसी टॉपिक को समझने में आपको दिक्कत होती है तो कृपया नीचे कमेंट में हमे बताये। आपके सवाल का जवाब जरूर दिया जाएगा।

अंत मे एक विनम्र विनती है अगर यह पोस्ट आपको पसंद आयी हो तो प्लीज इसे Facebook पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे। इससे उनके ज्ञान में भी वृद्धि होगी और हमे भी प्रोत्साहन मिलेगा। अपना कीमती समय देकर इस पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद।।

जय हिंद / जय भारत

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *