QR Code क्या है और कैसे स्कैन करे?

1

आपने अक्सर किसी product की packaging में एक square shape के barcode को print हुवे देखा होगा. इन्हें QR Code कहते है हालांकि इनका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है. ये कई तरह की information को store कर सकते है जिसे किसी QR Code scanner की help से अपने smartphone में decode किया जा सकता है. इस पोस्ट पर हम QR Code क्या है (What is QR Code in Hindi) इस बारे में विस्तार से जानेंगे.

QR Code Kya Hai (What is QR Code in Hindi)

QR Codes का उपयोग कर companies कई तरह की additional information को अपने customers तक पहुंचा पाती है. इसके अलावा वे इसे कई तरह से उपयोग में लेते है. उदाहरण के लिए आजकल digital payment platform अपने ग्राहकों को code scan करके payment करने का option दे रहे है. तो कुल मिलाकर इस तकनीक के कई benefits है. आइये QR Code क्या होता है? इसे थोड़ा और विस्तार से explain करे.

क्यूआर कोड क्या है? – What is QR Code in Hindi

QR Code, barcode का एक two-dimensional version है, जो machine-readable optical label में information को store करता है. एक QR scanner का उपयोग करके इसमे संग्रहित जानकारी तक पहुंचा जा सकता है. इसका design एक square box जैसा होता है जिसमे white background के उप्पर square black modules बने होते है.

एक QR Code में URL, Contact details, text और अन्य प्रकार का data store किया जा सकता है. सामान्य बारकोड केवल एक दिशा में जानकारी को रखते है जबकि क्यूआर कोड, horizontal व vertical दोनों direction में information hold कर सकता है. इसी कारण इनकी storage capacity किसी दूसरे barcode के comparison में अधिक होती है.

QR Code की Full Form

QR Code की फुल फॉर्म “Quick Response Code” है. यदि हिंदी में अनुवाद करे तो कहेंगे त्वरित प्रतिक्रिया कोड.

क्यूआर कोड किसने बनाया

सन 1994 में Denso Wave (जापान की एक कंपनी) ने QR codes को automobile के parts की tracking के लिए develop किया था. अब तक दुनियाभर में इन कामों के लिए conventional barcode का इस्तेमाल हो रहा था. परन्तु इसकी fast decoding speed और कई क्षमताओं के चलते कंपनियों के बीच ये अधिक लोकप्रिय हो गया. इसकी खास बात ये है कि इसे आसानी से generate और use किया जा सकता है.

क्यूआर कोड बनाने का Purpose

इसे देखकर किसी के भी मन एक सवाल जरूर आ सकता है, कि QR Code को बनाने का उद्देश्य क्या था? ये तो आप जानते ही होंगे कि हर किसी चीज का अविष्कार किसी समस्या के निवारण के लिए किया जाता है. वैसे ही जब 1D barcode बनाये गए थे हालांकि वे supermarket और general stock managment के लिए revolutionary साबित हुए.

लेकिन उनकी अपनी limitations थी एक तो उनमें सिर्फ 8-15 character ही encoded किये जा सकते थे यानी storage capabilities बहुत low थी दूसरा हल्के से घिसने के बाद उन्हें स्कैन करना मुश्किल होता था. इसलिए QR Code को develop किया गया इसमें लगभग 7000 alphanumeric characters को hold करने की capability थी.

उस समय किसी भी अन्य कोड की तुलना में ये दस गुना fast speed से scan किया जा सकता था. आप इसे किसी भी दिशा से स्कैन कर सकते है और हल्का घिस जाने पर भी इसमे छिपे कोड को स्कैनर द्वारा पढ़ा जा सकता है.

Static और Dynamic QR Code क्या है?

Static QR Code वो होते है, जिनमें store information पूरी तरह से uneditable होती है. अर्थात एक बार इन्हे generate कर देने बाद उसमे information में change नही किया जा सकता. इस type के कोड का use आप ऐसे campaign के लिए कर सकते है, जहाँ information को updated करने की जरूरत न पढ़े. उदाहरण के लिए ऐसे क्यूआर कोड में आप किसी URL या address details को store कर सकते है.

Dynamic QR Code में ये ability होती है, कि उनमें encoded data को कभी भी change किया जा सकता है. उदाहरण के लिये आपने एक कोड बनाया जिसमें product की details डाली परन्तु कुछ समय बाद आपको उसमें change करने की जरूरत महसूस हुई तो Dynamic code के संदर्भ में आप उसे बदल सकते है. ये आपको इन्हे reprint करने की cost से आजादी देता है.

QR Code में कैसी जानकारी Store कर सकते है?

QR Code में different types की information को store कर सकते है उनमें से कुछ निम्नलिखित है:

1. एक business की contact details को store करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते है.

2. किसी webpage या website के URL को इसमे संग्रहित किया जा सकता है ताकि उपयोगकर्ता इस तक आसानी से पहुंच पाए.

3. यदि आपको अपने product से related किसी SMS को अपने costumers तक deliver करना है तो उसे स्टोर कर सकते है.

4. Phone number, email address, home address इत्यादि जैसी personal information को भी save किया जा सकता है.

5. अपने Wifi networks की authentication details को अपने ग्राहकों को share करने के किये भी इस्तेमाल कर सकते है.

6. इसका उपयोग e-commerce payment system में customers को बिना बैंक जानकारी भरे payment page में भेजने के लिए किया जाता है.

7. किसी तरह के विचार को अपने ग्राहकों तक रखने के लिए उसे simple text में store कर सकते है.

8. कोई खास Event अगर आप करवा रहे है तो उसकी पूरी information आप QR Code के माध्यम से लोगों तक पहुंचा सकते है.

9. किसी location के link को attached करना भी कोई बुरा तरीका नही है.

उप्पर बताये गए तरीके वो है, जो अक्सर उपयोग में लिए जाते है. इसके अलावा इन कोड्स को आप अपनी आवश्यकता अनुसार इस्तेमाल कर सकते है. आज लगभग हर नए smartphone के cameras ऐसे होते है, जिनमें inbuilt scanner दिया जाता है यानी एक विशेष एप्प डाउनलोड करने भी जरुरत नही. तो ऐसे में QR Codes का इस्तेमाल करना फायदेमंद है.

QR Code कैसे Scan करे

यदि आपका smartphone इनमें से (Android, iOS, Blackberry, etc.) किसी भी Operating system (OS) को support करता है, तो उसमें already एक QR scanner दिया जाता है. इसके लिये आपको बस Camera open करना है और उसे QR Code के उप्पर point करके कुछ सेकंड रुकना है. जैसी ही scanning enable होगी स्क्रीन के उप्पर एक notification (view QR code details) दिखाई देगा जिस पर click करके आप उसे encode कर सकते है.

परन्तु अगर किसी कारण वश ऐसा नही होता है, तो आपको किसी QR Code reader app को download करना होगा. नीचे कुछ top app की list दी गयी है जिन्हें आप install कर सकते है:

  • QR code scanner free
  • TeaCapps QR & Barcode Reader
  • QR Code Reader and Scanner
  • Kaspersky – QR Scanner
  • Inshot – Free QR Scanner

QR Code कितना Secure है

अगर आप क्यूआर कोड का उपयोग करते है तो आपको इसके ऐसे क्षेत्रों के बारे में जान लेना चाहिए जो आपकी security और safety के लिए risk पैदा कर सकते है. हालांकि अपने आप में क्यूआर कोड खतरा नही है लेकिन वे किसी untrusted sender से आये तो ये एक बड़ा threat है. आप ऐसे ही किसी QR Codes को scan नही कर सकते हो सकता है उसमें malicious link को attach किया गया हो.

इसलिए किसी QR Code को scan करने से पहले आपको देख लेना चाहिये कि क्या वो dangerous हो सकता है. खासकर public places में print किये गए ऐसे कोड्स के प्रति careful रहें. क्योंकि ये आपको ऐसे web pages में land कर सकते है जो secure न हो. यदि कोई कोड आपको fraud न लगे तब भी उसमे bank details या personal information डालने से बचें.

एक Custom QR Code कैसे बनाये

NayaSeekhon Customize QR Code Sample

जी हाँ, आप भी खुद का एक QR code वो भी free में create कर सकते है. इतना ही नही उसके design को अपने हिसाब से customize भी किया जा सकता है. तो चलिए देखते है कि क्या अलग कर सकते है.

  • कोड के center में खुद का logo add कर सकते है
  • Colour को change किया जा सकता है
  • Data module के pattern को edit किया जा सकता है

इसमें आप विभिन्न types के data को store कर सकते है. उदाहरण के लिए URL, phone number, Some Text, SMS, Event, Location, etc. ये सब कैसे कर सकते है इसके लिए नीचे दिए Steps follow करे.

#1 इस लिंक पर जाए qrcode-monkey.com

#2 यहां आप information के type को select कर सकते है उदाहरण के लिए हम अपनी वेबसाइट के URL का QR Code बना रहे है.

#3 पहली पंक्ति में URL डालें अब Colors set करे दूसरी पंक्ति में Logo add करने के बाद Logo design customized करे और फिर Create QR Code पर click कर दे.

अब इसे check करके देख ले कि वह सही तरह से read हो रहा है या नही. इसकी PNG download कर लिजिये अब इसे आप कही भी print कर सकते है. इसके अलावा यदि आपको कोई बेहतर QR Code generator मिलता है तो आप वहाँ से भी इन्हे बना सकते है.

क्या ये कोड Expire होते है

ये बाद निर्भर करती कि कहां से आप इन कोड्स को generate कर रहे है और उस कोड का type क्या है. उदाहरण के लिए हमने आपको दो तरह के QR code के बारे बताया Static और dynamic. यदि आप dynamic codes बनाते है तो वे paid होते है साथ ही आपको company की तरफ से support भी मिलता है. इसके विपरीत अधिकतर Static codes बिल्कुल free होते है परंतु यदि इनमें कोई error आ जाये तो आप कुछ नही कर सकते.

क्यूआर कोड कैसे काम करता है

अगर आप QR Code को देखें तो आपको उसमें three black squares और कई काले dots दिखाई देंगे ये certain pieces of information को represent करते है. जब आप scanner को इसके उप्पर point करते है तो वह प्रत्येक Block के location की व्याख्या करता और कुछ blocks को combine करके characters को पहचानता है. जिसके बाद कोड में छुपी information को हम तक encode कर देता है.

आसान भाषा में QR Codes का प्रत्येक block और dots एक alphanumeric, numeric, binary या kunji (कुंजी चीनी अक्षरों का एक रूप है जो आधुनिक जापानी लेखन प्रणाली में उपयोग होता है) characters को indicate करता है. तो यदि आप भी इन्हें समझ जाएं तो ये पता लगाया जा सकता है कि इन कोड्स में क्या जानकारी है.

Barcode और QR Code में Difference

इन दोनों में सबसे महत्वपूर्ण difference ये है कि barcode केवल one dimensional है जबकि QR Code को two dimensional के रूप संदर्भित किया जाता है. इसका अर्थ है barcode में केवल horizontal direction में data hold होता है वही QR code में vertically भी हो सकता है. इनके बीच एक और बड़ा अंतर कम space में अधिक information store करने की capability का है जिसमे QR code कहीं आगे है.

QR Code का एक advantage ये भी है कि इसे Scanner द्वारा 360 degrees में कही से भी read किया जा सकता है वही बारकोड ये करने सक्षम नही है. Storage capacity के मामले में भी ये दश गुना अधिक जानकारी रखता है. ये barcode की तुलना में अधिक तेजी और विश्वनीयता के साथ काम करते है. यदि QR code पर गन्दगी लग जाए या ये थोड़ा फट जाए तब भी इसे लोग effectively scan कर सकते है.

Conclusion

इस लेख में आपने जाना QR Code क्या है (What is QR Code in Hindi) जिसके अंतर्गत हमने आपको इसके विभिन्न पहलुवों से परिचित कराया. तो यदि आगे से आप कभी इस कोड को किसी समान या मॉल में लगा हुवा देखे तो समझ जाएं कि इसमे उस चीज के बारे में कुछ अतिरिक्त जानकारी दी गयी है. इसके अलावा किसी ऐसे कोड को सावधानी से स्कैन करे.

तो उम्मीद है, इस पोस्ट QR Code क्या होता है और कैसे स्कैन करे? से आपको कुछ सीखने को मिला होगा. यदि इससे सम्बंधित आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया नीचे comment में जरूर बताएं. अंत मे अपनी इच्छानुसार आप इस पोस्ट को Share भी कर सकते है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here