PGDCA क्या है और कैसे करें? – PGDCA Course Details in Hindi

इस पोस्ट में आपको PGDCA क्या है? (What is PGDCA Course in Hindi), कैसे करें, किसे करना चाहिए, इसके लिए योग्यता, कोर्स सिलेबस, इसे करने के फायदे, करियर ऑप्शन और PGDCA course details की पूरी जानकारी दी जाएगी।

PGDCA Kya Hai in Hindi
PGDCA Course Details in Hindi

Post Graduate Diploma in Computer Application यानी PGDCA एक शार्ट-टर्म कंप्यूटर डिप्लोमा कोर्स है। यह कोर्स ऐसे स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद हो सकता है जिन्होंने अभी-अभी अपनी graduation पूरी की है और वह आगे कंप्यूटर या IT के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है।

DCA और ADCA कोर्स भी आपको computer skills सिखाने में मदद करते है लेकिन अगर आपके पास एक bachelor degree है और आप 1 साल के भीतर ही कंप्यूटर से सम्बंधित कोई कोर्स करना चाहते है तो PGDCA से बेहतर विकल्प आपके पास नहीं हो सकता है।

लेकिन निष्कर्ष पर पँहुचने से पहले आपको PGDCA कोर्स क्या है और इससे सम्बंधित पूरी जानकारी होनी चाहिए।

PGDCA क्या है? (What is PGDCA Course in Hindi)

PGDCA (Post Graduate Diploma in Computer Application) एक पोस्ट-ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स है। इस कोर्स की अवधि (duration) एक-साल की होती है जिसमें स्टूडेंट्स को computer applications, accounting software और programming language के बारे में अध्ययन कराया जाता है।

इसके पाठ्यक्रम मे basic से लेकर advance स्तर के topics शामिल होते है। जहाँ बेसिक में आपको computer fundamentals की जानकारी दी जाती है। जिसमें कंप्यूटर की कार्यप्रणाली, उसकी संरचना, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, कंप्यूटर मैमोरी, इंटरनेट और ईमेल, आदि विषय पढ़ाये जाते है। वहीं एडवांस टॉपिक में आप MS Word, MS Excel, PowerPoint, Operating system, DBMS, Programming language, Data structure, आदि विषयों का अध्ययन करते है।

तो, अगर आपने arts, commerce, या science stream से अपनी bachelor’s degree प्राप्त कर ली है लेकिन अभी आपको कंप्यूटर का उतना ज्ञान नहीं है तो आप यह कोर्स कर सकते है। इससे न सिर्फ आप computer की theoretical और practical knowledge प्राप्त करते है बल्कि एक पोस्ट-ग्रेजुएट डिग्री को करने के मुकाबले अपना समय भी बचाते है। क्योंकि एक पोस्ट-ग्रेजुएट डिग्री जहाँ 2 साल की होती है वहीं PGDCA कोर्स को आप 1 साल के अंदर पूरा कर लेते है।

इस कोर्स को आप अपने ही शहर में मौजूद किसी computer training institute या college से कर सकते है। पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद आपको एक computer diploma certificate दिया जाता है जिसकी मदद से आप private और government दोनों ही क्षेत्रों में job प्राप्त कर सकते है।

PGDCA Course Details in Hindi

फुल फॉर्मपोस्ट-ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन
पाठ्यक्रम की अवधिएक साल
कोर्स का प्रकारपोस्ट ग्रेजुएट
सेमेस्टर2 (6-6 महीने के)
पात्रता मानदण्डस्नातक
पाठ्यक्रम की फीसRs. 7000 से Rs. 25,000 तक
जॉब ऑप्शनप्रोग्रामर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, वेब डेवलपर, सिस्टम एनालिस्ट, डेटाबेस मैनेजर, कंप्यूटर ऑपरेटर, QA टेस्टर, आदि।

PGDCA कोर्स किसे और क्यों करना चाहिए?

अगर आप PGDCA course के बारे में जानकारी ले रहे है तो आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी कि यह कोर्स किसे और क्यों करना चाहिए?

नीचे दिए पॉइंट्स के माध्यम से आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि PGDCA आपके लिए सही कोर्स है या नहीं:

1) एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री जैसे MTech या MCA दो साल की होती है, जबकि PGDCA जो एक पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा है आपको वहीं चीजें एक साल अंदर सीखा देता है।

2) आपके यदि 10th या 12th क्लास में कंप्यूटर से सम्बंधित कोई सब्जेक्ट नहीं थे या आप बेसिक से कंप्यूटर सीखना चाहते तो भी यह कोर्स आपको करना चाहिए।

3) ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद ज्यादातर स्टूडेंट्स Masters degree के लिए जाते है जहाँ saturation level high होता है। कहने का मतलब है कि इन professional courses में admission लेना थोड़ा मुश्किल होता क्योंकि बहुत ज्यादा competition होता है। जबकि PGDCA कोर्स में आपको आसानी से प्रवेश मिल जाता है।

4) इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप एक सॉफ्टवेयर डेवलपर, कंप्यूटर प्रोग्रामर, सिस्टम एनालिस्ट, IT कंसलटेंट, आदि के रूप में विभिन्न MNCs और IT कंपनियों में काम कर सकते है।

5) इसे पूरा करने के बाद आपको diploma certificate मिलता है जिससे आपको नौकरी के संभावित अवसर प्राप्त होते है।

6) अंतिम लेकिन सबसे महत्वपूर्ण यह कोर्स आपको computer use करने की complete knowledge देने के साथ-साथ विभिन्न computer languages का भी ज्ञान देता है।

PGDCA करने के लिए Qualification

PGDCA कोर्स करने के लिए सबसे मुख्य योग्यता मानदंड (eligibility criteria) यह है कि आवेदक ने किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री (bachelor’s degree) पूर्ण की होनी चाहिए। यानी आपके पास BA, B.Com, B.Sc, BCA, B.Tech, आदि डिग्री होनी चाहिए तभी आप इस कोर्स में प्रवेश कर पाएंगे।

आपके शहर में मौजूद ज्यादातर computer training institute सिर्फ इस एक मानदंड के आधार पर कैंडिडेट को एडमिशन दे देते है। लेकिन अगर आप किसी college या university जैसे Delhi university से इसके लिए अप्लाई करेंगे तो आपके ग्रेजुएशन में 40-45% minimum marks होने चाहिए।

कई colleges में इस कोर्स को करने के लिए age limit भी तय की जाती है। तो अगर आप किसी college/university से PGDCA कोर्स करने की सोच रहे है तो पहले आपको उनकी official website में जाकर पता करना चाहिए कि इस प्रोग्राम के लिए उनका आवश्यक eligibility criteria क्या है।

PGDCA कोर्स सिलेबस – Semester Wise

एक कैंडिडेट के लिए जो PGDCA करने की सोच रहा है, यह जांचना बेहद जरूरी है कि इसका course syllabus क्या है। इससे आपको पता लगता कि आप इस प्रोग्राम के अंतर्गत क्या-क्या सीख सकते है। syllabus देखकर आप यह भी तय कर सकते है कि क्या यह कोर्स आपके लिए ठीक है, या नहीं।

PGDCA syllabus को 2 semester में बांटा जाता है। स्टूडेंट्स पहले 6 महीने में 1st semester और अगले 6 महीने में 2nd semester के subjects पढ़ते है।

ध्यान देने वाली बात यह है कि आपको यह पाठ्यक्रम एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में भिन्न मिलेगा लेकिन उनके मूल विषय समान ही रहेंगे।

नीचे तालिका में दोनों semester में पढ़ाये जाने वाले subjects की list दी गयी है।

1st Semester2nd Semester
Fundamentals of Computer & Information TechnologyFinancial Accounting With Tally
Basic Computer SkillsMS Office Applications
Internet & EmailAdobe Photoshop
Fundamentals of MultimediaCorel Draw
Communication SkillsVisual Basics
Operating SystemsDOS
Web designingLinux
Database Using MS AccessPython
PC Assembling and MaintenanceJava
Introduction of Programming LanguageC++

PGDCA कोर्स कैसे और कहाँ से करें?

PGDCA क्या है और इसके बारे तमाम जानकारी लेने के बाद आइये अब इस पोस्ट के मुख्य सवाल की तरफ बढ़ते है जो है, इस कोर्स को कैसे और कहाँ से करना चाहिए?

PGDCA कोर्स को आप कई माध्यमों से कर सकते है जो निम्नलिखित है:

  1. College या University से।
  2. अपने शहर में मौजूद किसी Computer Training Institutes से।
  3. Online Courses के माध्यम से।

1. College या University के माध्यम से – देश मे कुछ ही कॉलेज ऐसे है जो regular mode में PGDCA course ऑफर कर रहे है। इसमें कुछ कॉलेज है जैसे Indian Statistical Institute Kolkata जो इस प्रोग्राम में admission के लिए entrance exam करवाते है। वही कुछ कॉलेज में merit के आधार पर admission दिया जाता है।

हालांकि हर कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया भिन्न होती है। इसलिए आप जिस भी कॉलेज से यह कोर्स करने जा रहे है उनकी आधिकारिक वेबसाइट में जाकर इस कोर्स का admission procedure पता कीजिये।

आमतौर पर इन colleges में admission दो सत्र में होते है, पहला जनवरी सत्र और दूसरा जून-जुलाई सत्र। तो अगर आप किसी कॉलेज से इस पाठ्यक्रम को करने की सोच रहे है तो आप जनवरी से जून के महीने में PGDCA के admission form भर सकते है।

भारत के कुछ Top PGDCA Colleges/Universities की list:

  • University of Delhi
  • Indira Gandhi National Open University, New Delhi
  • Punjab Technical University, Jalandhar
  • Indian Statistical Institute, Kolkata
  • Dibrugarh University, Assam
  • Sardar Patel University, Gujrat
  • Vallabh Government College, Mandi
  • Annamalai University, Tamil Nadu
  • LPU (Lovely Professional University)
  • Makhanlal Chaturvedi University, Bhopal

2. अपने शहर में मौजूद किसी Computer Training Institutes से – आज हर छोटे-बड़े शहर में ढेरों computer training institute खुल चुके जो ऐसे शार्ट-टर्म डिप्लोमा कोर्स ऑफर करते है।

अच्छी बात ये है कि यहां एडमिशन लेना एक कॉलेज के मुकाबले काफी आसान होता है। साथ ही आप इन institute से ADCA को part-time भी कर सकते है। इन इंस्टीटूट्स की fees भी काफी affordable होती है।

हालांकि उन्हीं इंस्टिट्यूट्स से इस कोर्स को करना चाहिए जो सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हो और जिनकी एक अच्छी reputation हो। आप Google की मदद अपने शहर में मौजूद PGDCA के लिए top computer training institute को खोज सकते है।

3. Online PGDCA Courses से – अगर आप ऊप्पर दोनों तरीकों से इस कोर्स को नहीं करना चाहते है तो आपके पास online course का भी एक विकल्प होता है। ढेरों नामी institutes है जिनके खुद के app है जहाँ पर वह PGDCA online course ऑफर करते है। इसके अलावा आप online learning platform जैसे Udemy से भी इस कोर्स को कर सकते है।

IISDT संस्था (Indian Institute of Skill Development Training) का भी खुद का एक ऑनलाइन पीजीडीसीए कोर्स है। इसके लिए आप उनकी official website में जाकर enroll कर सकते है। इसके अलावा कुछ colleges जैसे IGNOU द्वारा distance learning में यह कोर्स कराया जाता है।

PGDCA के बाद Jobs और Salary

PGDCA कोर्स पूरा करने के बाद आप विभिन्न क्षेत्रों में निम्नलिखित job profile के लिए अप्लाई कर सकते है:

Web Designer
Web Developer
Software Developer
Systems Analyst
IT Support Analyst
IT Consultant
Computer Programmer
Computer Operator
Database Administrator
Quality Assurance Analyst, etc.

PGDCA Graduate Average Salary

एक PGDCA Graduate की औसतन प्रारंभिक salary – Rs. 15,000 से Rs. 30,000 तक हो सकती है। हालांकि यह एक व्यक्ति और उसकी काबलियत पर निर्भर करता है कि वह इन jobs के लिए कितना योग्य है।

इसके अलावा अलग-अलग job role के लिए शुरुआती सैलरी भिन्न हो सकती है। साथ ही जैसे-जैसे उस फील्ड में आपका experience बढ़ता आपकी salary बढ़ती जाती है।

PGDCA के बाद करियर ऑप्शन

अगर आप PGDCA कोर्स करना चाहते है तो आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि इसे करने के बाद आपके पास क्या करियर ऑप्शन हो सकते है।

यह एक ऐसा पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा है जिसे करने से आपके लिए ढेरों करियर के अवसर खुलते है। हालांकि कई लोग इस पर बहस करते है कि यह एक professional course नहीं है। अब हर कोई ग्रेजुएशन के बाद B.Tech (Bachelor of Technology) और M.Sc (Master of Science) नहीं कर सकता और इन कोर्स की अवधि भी 2 साल की होती है। जबकि PGDCA आपको एक साल के भीतर ही computer skills सीखा देता है।

तो PGDCA करने के बाद एक व्यक्ति या तो सीधे job के लिए जा सकता है। TCS, Infosys, Oracle, Wipro, HCL और ऐसी ढेरों MNCs है जहाँ आप विभिन्न पदों पर job के लिए अप्लाई कर सकते है।

आज न सिर्फ IT sector में बल्कि banking, hospitality, media और Internet, आदि क्षेत्रों में कुशल IT professionals की मांग है। और इस कोर्स के भीतर आपको इससे ही सम्बंधित training दी जाती है।

तो पहला विकल्प तो यही है कि आप काम करना शुरू करें या फिर आप higher education के लिए जा सकते है। कुछ प्रमुख courses जिन्हें आप PGDCA पूरा करने के बाद कर सकते है:

MCA (Masters in Computer Application)
MSc in Information Technology
MSc in Computer Science
MBA in Information Technology

PGDCA कोर्स करने के फायदे

PGDCA एक professional course है जिसमें स्टूडेंट्स को कंप्यूटर और IT फील्ड में काम करने के लिए training दी जाती है।

आपको एक post-graduate diploma प्राप्त होता है जिसकी मदद से आप विभिन्न क्षेत्रों में job के लिए अप्लाई कर सकते है।

इसे करने के बाद आपको MSc IT या MCA पाठ्यक्रम के 2nd year में सीधा प्रवेश मिल सकता है।

एक फायदा यह है कि arts और commerce graduate भी इस कोर्स को कर सकते है।

आप एक computer teacher के रूप में अपना करियर शुरू कर सकते है।

कंप्यूटर के क्षेत्र में career opportunities बढ़ती है।

आप विभिन्न MNCs में एक कंप्यूटर प्रोग्रामर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, वेब डेवलपर, कंप्यूटर ऑपरेटर, एथिकल हैकर, आईटी कंसलटेंट, आदि के रूप में काम कर सकते है।

FAQs – PGDCA Course Details in Hindi

प्रश्न 1. PGDCA की फुल फॉर्म क्या है?
उत्तर. इसकी फूल फॉर्म Post Graduate Diploma in Computer Application है।

प्रश्न 2. पीजीडीसीए डिग्री है या डिप्लोमा?
उत्तर. यह एक पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स है जिसे आप ग्रेजुएशन के बाद कर सकते है।

प्रश्न 3. PGDCA कितने साल का है?
उत्तर. कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा एक-साल का कोर्स होता है जिसमें 6-6 महीने के दो सेमेस्टर शामिल होते है।

प्रश्न 4. पीजीडीसीए की फीस कितनी है?
उत्तर. इसकी fees विभिन्न computer training institute, colleges और universities में भिन्न हो सकती है। आमतौर पर यह Rs. 7,000 से Rs. 25,000 के बीच मे कहीं भी हो सकती है।

प्रश्न 5. क्या 12th के बाद पीजीडीसीए कर सकते हैं?
उत्तर. इस कोर्स में प्रवेश लेने के लिए कैंडिडेट के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज की स्नातक डिग्री (बैचलर्स डिग्री) होनी चाहिए। इंटरमीडिएट (12th पास) स्टूडेंट्स इसके लिए eligible नहीं है।

प्रश्न 6. MCA और Pgdca में कौन बेहतर है?
उत्तर. MCA (Masters of Computer Application) तीन साल की एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है वहीं Pgdca एक साल का पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा है। MCA में स्टूडेंट्स को कंप्यूटर साइंस के मूल सिद्धांतों और उनके ऍप्लिकेशन्स की गहन समझ प्रदान की जाती है।

प्रश्न 7. PGDCA के बाद क्या करें?
उत्तर. स्टूडेंट्स इसके बाद विभिन्न क्षेत्रों में नॉकरी के लिए जा सकते है या आगे उच्च-शिक्षा प्राप्त कर सकते है।

Conclusion (संक्षेप में)

इस पोस्ट में आपने जाना PGDCA क्या है (What is PGDCA Course in Hindi), किसे करना चाहिए, योग्यता, कोर्स सिलेबस, करियर ऑप्शन, जॉब और सैलरी के बारे में। तो अगर आपने graduation पूरी कर ली है और अब आप किसी शार्ट-टर्म कंप्यूटर कोर्स की तलाश में जो आपको IT में करियर बनाने में मदद करें तो आप इस कोर्स के लिए जा सकते है।

पोस्ट में इतना ही। अगर आपके पास इस विषय से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया नीचे कमेंट करें हम जल्द ही उसका जवाब आपको देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here