Web Designing क्या है और Web Designer कैसे बने?

अगर आप एक बेहतर Career option की तलाश कर रहे है, तो Web Designing kya hai? वेब डिजाइनिंग क्या है और एक professional web designer कैसे बने? इस बारे में आपको जरूर जानना चाहिए. India में ज्यादातर लोग Job या तो Government sector में करना पसंद करते है या फिर किसी private company में परन्तु आजकल इन सब से बढ़कर एक बेहतरीन विकल्प web designing है. इस क्षेत्र में न केवल पैसा है बल्कि बहुत बड़े career scop की संभावना भी है. लेकिन यह राह इतनी आसान नही है, क्योंकि एक web designer के पास creative skills और technical abilities होनी चाहिए. जिससे वह एक बेहतरीन website को बना पाए.

web designing kya hai (what is web designing)

तो अब सवाल यह उठता है कि Web designing सीखने की शुरुवात कैसे करी जाए. इसके लिए जरूरत है सही दिशा निर्देश की जैसे एक web designer के रूप में आपको किन language और tools के इस्तेमाल को सीखना चाहिए? इसमे क्या आता है? इसके लिए कौन से course आवश्यक है. इसके अलावा भी बहुत सी चीजें है जिनकी knowledge आपको होनी चाहिए. इस पोस्ट में उन सभी दिशा निर्देशो के बारे में जानकारी दी गयी है, जो आपको web designing सीखने में मदद करेगी. तो चलिए सबसे पहले जानते है,Web designing क्या है? उसके बाद बाकी चीजो को समझेंगे.

वेब डिजाइनिंग क्या है (What is Web Designing)

Website बनाने की process को “web designing” कहा जाता है. इसमे web page, layout, content production और graphic design सहित कई चीजें आती है. इसे Web development process भी कहा जा सकता है. इसके अंतर्गत वेबसाइट को attractive और उपयोग करने में आसान बनाने के लिए user interface और अन्य visual imagery जैसे factors पर ध्यान दिया जाता है. एक Web designer किसी website को build करने के लिये कई software tool और language का इस्तेमाल करते है.

वेबसाइट को HTML नामक markup language द्वारा बनाया जाता है. इसके Html tag एक वेबसाइट के structure को बनाने में अहम भूमिका निभाते है. webpage के भीतर element layout के स्वरूप को design करने के लिए CSS का उपयोग किया जाता है. Internet पर मौजूद सभी वेब पेज HTML व CSS के इस्तेमाल से ही बनाये गए है. कुल मिलाकर web designing में यह तय होता है, कि कोई web page एक browser में कैसे दिखाई देगा.

>Artificial Intelligence (AI) क्या है?

>Server क्या है और यह कैसे काम करता है?

वेब डिजाइनिंग में क्या आता है.

Website निर्माण करना – Web designing का मूलतः अर्थ वेबसाइट के निर्माण से ही है. एक web designer बहुत Attractive और fully functional website बनाने में निपुर्ण होता है. इसके अंतर्गत आपको fast और responsive website कैसे बनाये इस बारे में बताया जाता है.

Graphic Design – वैसे ग्राफिक डिज़ाइन एक अलग विषय है, परन्तु यह वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत ही आता है. यह संदेशो के सवांद करने के लिए visual content बनाने का शिल्प है. Visual hierarchy और page layout technique को लागू करते हुवे web designer उपयोगकर्ता की विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए typography और चित्रों का उपयोग करते है साथ ही user experience को अनुकूलित करने के लिये interactive design में elements को प्रदर्शित करने के तर्क पर ध्यान केंद्रित करते है.

Page Structure तैयार करना – एक वेबसाइट के page structure को आप उसकी बुनियाद भी कह सकते है. एक web designer का अहम रोल site structure को बेहतर बनाना होता है. web designing के अंतर्गत वेबसाइट की पूरी संरचना को तैयार किया जाता है, यह काम HTML के इस्तेमाल से होता है.

Websites का design करना – किसी webpage में text, colour, font style, collum size, sidebar, layout design यह सब web designer द्वारा fix किये जाते है. इसमे Cascading style sheet (CSS) का इस्तेमाल होता है. इसको HTML document में emeded करके webpage के पूरे design में बदलाव किया जा सकता है.

Content Production – Article, ebook या blogspot को लिखने या उसके निर्माण करने की प्रक्रिया को content production कहा जाता है. Content के बारे में research, analysis और उसको लिखने की strategy यह सब web designing का ही एक part है.

Site Maintenance करना – वेबसाइट के बेहतर काम करने के लिए उसकी maintenance बहुत जरूरी है. इसीलिए web designing के अंतर्गत site में होने वाली mistakes और issues को नियमित रूप से check किया जाता है और उसमें होने वाली गलतियों को सुधारा जाता है.

Web Designer कैसे बने

कोई भी business चाहे वह छोटे स्तर पर हो या बड़े स्तर पर उसके लिए लोगो तक पहुचने का सबसे बड़ा तरीका online marketing है. उपयोगकर्ता किसी भी चीज को खरीदने से पहले उसके बारे में इंटरनेट पर ढूंढता है और उसके हिसाब से ही निर्णय लेता है. इसीलिए आज किसी भी Company की marketing strategy में web design शामिल है. एक वेबसाइट के बिना कोई भी कंपनी इस morden word में grow नही कर सकती. इसलिए आजकल web designer की मांग बहुत ज्यादा है और यह future में और बढ़ेगी. तो चलिए जानते है कि आप एक web designer बनने की शुरुवात कैसे कर सकते है.

>Computer क्या है Computer कंप्यूटर के प्रकार ?

Photoshop का इस्तेमाल सीखे

Photoshop एक photo editing, image creation और graphic design software है. किसी भी वेबसाइट या webpage को बनाने से पहले उसके पूरे structure को कि वह कैसी दिखेगी यह सब photoshop में design किया जाता है. मुख्य रूप से Photoshop आपके वेब पेज का final output दिखाता है. यह हमें एक idea देता है ताकि हम अपने web page के design pixel को सही बना सके. यह जरूरी है किसी भी web page को बनाने से पहले उसका एक demo तैयार कर लिया जाए जिससे हम उसे देख कर उसकी coding शुरू कर सके. मेरे अनुसार एक अच्छे web designer बनने के लिए आपको photoshop सीखना चाहिए.

HTML & CSS को सीखे

अगर आप web designing में successful होना चाहते है, तो HTML, CSS जैसी language को सीखना अनिवार्य है. क्योंकि यह web की foundational language है. Html एक markup language है जिसका उपयोग web page को विकसित करने में किया जाता है. वही CSS क्या है यह ऐसी भाषा है. जो html में लिखे गये दस्तावेजों की प्रस्तुति को परिभाषित करता है. अगर आप एक web designer बनना चाहते है. तो आपके लिए html व css का ज्ञान होना बहुत जरूरी है. इसको सीखने के लिए आपको इनकी मूल बाते जाननी होगी और web page बनाने में इनका उपयोग कैसे किया जाता है. इसकी पूरी जानकारी इकट्ठा करनी होगी.

JavaScript व JQuery को सीखे.

अगर आप एक begginers है, तो यह जरूरी नही कि आप शुरुवात में JavaScript या JQuery सीखे. परन्तु यह बात आपको ध्यान में रखनी चाहिए कि एक बेहतर web designer बनने के लिए इन दोनों का आना बहुत जरूरी है. तो सबसे पहले JavaScript क्या है यह client side scripting language है या कहे एक computer programming language है, जो internet browser के अंदर चलती है. वही JQuery एक JavaScript library है. यह बहुत lightweight होती है, इसको सीखने के बाद आपका JS Code लिखने का काम बहुत कम हो जाता है. JavaScript के साथ JQuery सीखना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा. अगर आप website बनाने के लिये जावास्क्रिप्ट के साथ इसे इस्तेमाल करते है, तो यह उसे बहुत आसान बना देगा.

Web Designing Trend को समझिये

Web designing में एक उज्ज्वल भविष्य के लिए सिर्फ website बनाने से काम नही चलता बल्कि आपको बहुत aware और creative होने की जरूरत है. कोई भी कंपनी या client तभी आपसे service लेंगे जब आप उनको web designing trend के हिसाब से वेबसाइट बनाके देंगे. कोई भी नए trend के आते ही इसका सीधा असर web designing के क्षेत्र में पड़ता है और उसकी मांग एकदम से बढ़ जाती है. इसीलिए एक web designer होने के नाते आपको इसके साथ बने रहना होगा तभी आप इसमे अपनी उपस्थिति दर्ज करा पाएंगे. आप web designing trend को internet के माध्यम से भी जान सकते है. कई ऐसे blog उपलब्ध है, जो आपको इनके बारे में सटीक जानकारी मुहैया कराते है. अगर चाहे तो आप किसी web designer से मदद भी ले सकते है.

>वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) क्या है ?

Web Designing Tool का इस्तेमाल सीखे

किसी भी क्षेत्र में tools बहुत उपयोगी होते है, क्योंकि यह हमारे कार्य को सरल कर देती है. वैसे ही web designing में कई design software tool उपयोग किये जाते है. जैसे photoshop व mockplus का उपयोग prototype और icon design में किया जाता है. Adobe Illustrator एक बहुत अच्छा vector graphics processing tool है. जिसका उपयोग font design, product packaging design, graphic design और layout design में किया जाता है. हालांकि अब कई web browser में website design करना सम्भव हो सका है. परन्तु एक web designer को कई आवश्यक web design software का इस्तेमाल सीखना चाहिए.

Web Designing Process को Correct करना

जैसा मैने पहले कहा Web designing सिर्फ Code लिखने के बारे में नही है, बल्कि यह वह क्षेत्र है जहाँ आपको बहुत creative होकर कार्य करना पड़ता है. web designing process इसका एक अहम हिस्सा है आपको Websites बनाते वक्त हर चीज के बारे में गहराई से सोचना होता है. यह ज्यादातर दोहराव वाला काम है. आप लगभग हर Project में अपने आप को वही काम करते हुवे पाएंगे. इसीलिये website design करते वक्त Devlopment process का अनुसरण करने पर आपके काम मे तेजी आ सकती है और आपके client को project में आपकी भूमिका समझने में मदद मिल सकती है. इस प्रक्रिया को समझने से आप अपने कार्य को बेहतर व्यवस्थित कर पाते है, जिससे किसी project की समयरेखा को गति मिल सकती है और विकास के लिए एक स्वंतत्र व्ययसाय तैयार हो सकता है.

असल मे यह एक web design project को पूरा करने के लिए शुरू से अंत तक उठाये जाने वाले कदमों की एक रूपरेखा है. इसमे कई चीजें आती है, जैसे Planing, Design इत्यादि.

Web designing tips को follow करे

किसी वेबसाइट की सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारको में एक है, Web design. किसी भी वेबसाइट की विश्वनीयता को जानने के लिए सबसे पहले उपयोगकर्ता उसके design को देखते है. अगर आप इसकी शुरुआत कर रहे है, तो आपको कई दूसरे अनुभवी web designers से इसके बारे tips जरूर लेनी चाहिए. इसके ऊपर इंटरनेट पर मौजूद ब्लॉग को पढ़ना चाहिये. इस चीज पर आपको ज्यादा ध्यान देने की जरूरत इसीलिये है, क्योंकि उपयोगकर्ता पर Website का design एक शक्तिशाली प्रभाव डाल सकता है. इन web designing tips का अध्ययन करने से आपको पता चलता है, किस तरह से आप अपनी Skills को improve कर सकते है.

Web designer बनने के लिए Qualification

नए लोगो के मन मे यह सवाल अक्सर उठता है, की web designing में अपने career की शुरुवात करने के लिए हमारी qualification क्या होनी चाहिए. शुरुवात करने के लिए आप 10 या 10+2 pass करने के बाद इसमे जा सकते है. अगर आप graduate है, तो आपकी degree भी आपके काम आ सकती है. इसके लिए आप अतिरिक्त diploma course या Computer science में degree भी ले सकते है. Web designer बनने के लिए आपको HTML, CSS, JavaScript जैसी language के बारे में जानने की भी आवश्यकता है. कई software के उपयोग के बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए. Coding और scripting में ज्ञान आपको इसके क्षेत्र में एक अच्छे भविष्य की बढ़त देता है. Computer और Internet के क्षेत्र में कुछ basic knowledge आपको और benefit दे सकते है.

वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए कोर्स

Web designing का course लेना बहुत ही आसान है. यह जरूरी भी है, एक web designer के रूप में अपने पेशे को शुरू करने से पहले आपको इसके लिए important course लेने चाहिए. अगर आप कही से प्रशिक्षण लेते है, तो आपको इसका बहुत बड़ा फायदा मिलता है. यह सिर्फ content और image को दिखाने के लिए webpage create करने के बारे में नही है. इसमे हमे requirements को समझना होता है फिर गहरे विचार अध्यन के बाद एक सही वेबसाइट की योजना बनानी होती है. यह बाकी सभी क्षेत्र की तरह ही है लेकिन दूसरे कामो के मुकाबले कही ज्यादा creativity और patience मांगता है.

इसको करने के कई multiple courses उपलब्ध है, जिनकी सूची नीचे दी गयी है.

1 Online Course

आज के समय मे कई ऐसे online course है, जिन पर आपको web designing की पूरी जानकारी मुहैया कराई जाती है. आप  online tutorial, free ebooks या किसी वेबसाइट के माध्यम से भी web designing सीख सकते है. वैसे free तरीके उतने काम के नही होते क्योंकि इनमें आपको ज्यादातर जानकारी इधर – उधर से इकट्ठा करनी होती है. इसीलिए हम आपको सलाह देंगे कि आप paid course खरीदिये. इनसे सीखने पर आपको इसके बारे में complete guide मिल जाती है. इससे आपका समय भी बचता है और आप इस क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ पाते है.

कुछ ऑफलाइन व ऑनलाइन वेबसाइट जहा से आप online course ले सकते है.

Udemy
W3school
Treehouse
Codeschool
Tutorialpoint
Lynda.com
LinkedIn Leaning

2  Degree Courses

Web designing के क्षेत्र में career बनाने के लिए, इसके विभिन्न क्षेत्रों में पर्याप्त ज्ञान और अनुभव प्राप्त करना बहुत आवश्यक है. ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका किसी अच्छे web design collage में दाखिला लेना है. यहां से Bachelor’s degree करने पर छात्र Website निर्माण, object oriented programing और graphic design जैसे विषयों पर अध्ययन करते है. इन courses की अवधि लगभग 3 years की होती है इसमे आपको प्रारंभ में कंप्यूटर एडेड चित्र तैयार करना सिखाया जाता है. अगर आप किसी अच्छे कॉलेज से डिग्री लेते है, तो आपकी placement किसी अच्छी Company में हो जाती है. जिससे आप बहुत अच्छी कमाई भी कर पाते है. आप इंटरनेट के माध्यम से अपने किसी नजदीकी web design collage का पता लगा सकते है.

3 Certificate Course

इन Course को आप किसी भी छोटे institute ले सकते है, इनकी अवधि 6 months से लेकर 1 year तक कि हो सकती है. यहां आपको शुरुवात से वह सभी चीजें सिखाई जाती है जो एक web designer को सीखनी जरूरी है. Web designing के लिए certificate course लेना काफी फायदेमंद होता है. एक तो इसमें आपका पैसा कम लगता है वही आप अपने interview में इस certificate को दिखाकर किसी Company में job भी ले सकते है. अगर आप एक freelancers के रूप में कार्य करना चाहते है तो भी यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है. इसके साथ ही आप HTML, CSS व PHP जैसी website construction language के उपयोग को भी बेहतर ढंग से सीख पाते है.

4 Diploma Course

Web designing करने के लिए आप एक Diploma course भी ले सकते है. इसके course की अवधि 1 year से लेकर 2 year तक हो सकती है. इसको करने के लिए  आपकी योग्यता कम से कम 10 या 10+2 pass होनी चाहिए. इसके अंतर्गत आपको विभिन्न software पर काम करने के लिए information दी जाती है, जिससे आपकी Web design skills को improve होने में काफी सहायता मिलती है. Diploma course में website design concept, HTML, CSS & JavaScript साथ ही design software जैसे विभिन्न प्रकार के पाठयक्रम शामिल होते है. Web design technique में एक diploma student को वेबसाइटों को विकसित करने के लिए आवश्यक तकनीकी कौशल दिया जाता है.

India में Web Designing Course की Fees

India के अंदर बहुत सारे Web designing institute है, ऐसे में हर किसी की Course fees अलग-अलग हो सकती है. Web designing के अंदर भी कई तरह के Courses होते है इस वजह से भी उनके prices में काफी फर्क पड़ता है.

Web Design में Career/Job/Salary क्या है

Web designing एक वेबसाइट के संपूर्ण स्वरूप को बनाने की प्रक्रिया है. Web designer वह होता है, जो किसी वेबसाइट के बारे में सब कुछ निर्धारित करता है. यह एक तरह से किसी वेबसाइट के layout, colour, text style, image graphics और content को व्यवस्थित करने की एक प्रक्रिया है. आज digital world में किसी भी Company या business को आगे बढ़ाने में सबसे बड़ा रोल एक वेबसाइट का है. इसके जरिये आप लोगो को अपने बारे में बता सकते है. ऐसे समय मे जब सबके पास Internet उपलब्ध और लोग किसी भी information के लिए search engines का उपयोग करते है. तो web designing के क्षेत्र में करियर या Job की बहुत बड़ी संभावना है. अगर वर्तमान के web designers की बात की जाए तो वह एक अच्छी खासी sallery पर काम कर रहे है. तो चलिए इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानते है.

वेब डिजाइनिंग में करियर

अगर Web designing के क्षेत्र में करियर की बात की जाए तो इसका Course पूरा करने के बाद आपको किसी web designing company में आराम से नोकरी मिल सकती है. अगर आप चाहे तो खुद की एक freelance company भी खोल सकते है. India में हजारों ऐसी कंपनियां है जो Front end और Back end development project के लिए web designer को हायर करती है. इसके अलावा आप खुद की एक वेबसाइट बनाकर उससे भी अच्छा खासा पैसा कमा सकते है.

वेब डिजाइनिंग के क्षेत्र में प्रमुख career option

Front end developer – इस क्षेत्र में इसे Client side development के रूप में भी जाना जाता है, एक वेबसाइट या एप्लिकेशन के लिए HTML, CSS और JavaScript के उत्पादन का अभ्यास है, ताकी एक उपयोगकर्ता सीधे उनके साथ देख और बातचीत कर सके.

Back end developer – इसे आप एक Programmer भी कह सकते है, इसका काम website, software या सूचना प्रणाली के back end और Core communicational Logic बनाना होता है. यह ऐसे Developer component और सुविधाओं को बनाता है, जो अप्रत्क्षय रूप से front end application या system के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा access किये जाते है.

इसके अलावा इसमे Graphic design, Logo design, Multimedia design जैसे कई और सुनहरे करियर विकल्प भी होते है. कुल मिलाकर अगर आपको इस क्षेत्र में अच्छा ज्ञान है, तो आपके लिए इसमे अपार सम्भावनाए है.

वेब डिजाइनिंग के क्षेत्र में Jobs

इस क्षेत्र में Job opportunity बहुत सारी है. हर रोज नई कंपनियां खुलती है, जिससे यह साफ होता है की इस क्षेत्र में Job के कई सारे अवसर उपलब्ध है. Web designers के लिए सबसे प्रमुख नौकरी नीचे दी गयी है.

Web designer इस क्षेत्र की सबसे प्रमुख नौकरी में से एक है. एक काम ऐसी website design करना होता है, जो न केवल उपयोग में आसान होती है बल्कि एक अच्छा look भी देती है. इसके अंतर्गत बहुत सारे कार्य आते है.

Front-End designer जो HTML, CSS और presentational JavaScript code बनाते है, जिसके द्वारा एक user interface तैयार किया जाता है.

UX Designer जो अध्यन और शोध पर ज्यादातर ध्यान केंद्रित करते है. इसके अंतर्गत यह देखा जाता है, कि लोग कैसे किसी वेबसाइट का उपयोग करते है.

Visual DesignerUI Designer जो किसी वेबसाइट के बनावट व सौंदर्य पर अधिक ध्यान देते है. इनका काम ज्यादातर designing का ही होता है.

>App कैसे बनाये जाने

Graphic designer जिसे communication design के रूप में भी जाना जाता है. इनका ज्यादातर ध्यान advertisement पर केंद्रित होता है. यह दर्शको को संदेश देने के लिए visual image का उपयोग करते है. की सैलेरी

Web Designer की Sallery

Web designing में आपकी सैलेरी कई चीजो पर तय होती है. अगर आपने किसी अच्छे institute से प्रशिक्षण लिया है, तो कोई भी Company आपको शुरुवात में अच्छी सैलेरी दे सकते है. आमतौर पर एक fresher के रूप में आपको Starting Sallery 15000 से लेकर 30000 per month तक मिल जाती है. अब जैसे – जैसे इसमे आपका अनुभव बढ़ता जाता है. तो आप इसके base पर आपको Experience sallery 60000 महीना तक कमा सकते है.

वेब डिजाइनिंग में सैलेरी का यह अनुपात हर जगह अलग होता है. यह पूरी तरह आपके रोल और किसी company के उप्पर निर्भर करता है, हो सकता है कि आपको कही इससे ज्यादा या कम सैलेरी भी मिल सकती है. अगर आप बिल्कुल गहराई से इसके बारे में जानना चाहते है, तो आप Payscal में हर एक डिजाइनर की Average sallery check कर सकते है.

Web Designing और Web Development में क्या अंतर है

Web designing Web development
वेब डिज़ाइन web page या पूरी वेबसाइट का निर्माण करना है. यह Website
बनाने की एक process है, जिसके अंतर्गत planning, virtualization जैसी कईचीजें आती है.
Web development में Websites के actual interface का निर्माण किया
जाता है. इस Interface को HTML, CSS, JavaScript जैसी language का
उपयोग करते हुवे front-end developers द्वारा बनाया जाता है.
Web designing में आपको HTML, CSS और JavaScript जैसी programing
language सीखनी होती है
जब web designer वेबसाइट के design को तैयार कर देते है, उसके बाद वेबडेवलपर्स Programming language का इस्तेमाल करके वेबसाइट को कार्यशील बनाते है.
Website के layout और अन्य visual elements को बनाने के लिए वेब
डिजाइनर Adobe Photoshop,Sketch और Illustrator जैसे Software toolका प्रयोग करते है.
Web developer अपना ध्यान coding के तीनक्षेत्रों Client, Server और
Database में केंद्रित करते है. एक Web developer का काम किसी
वेबसाइट की अंदरूनी कामकाज को करना होता है.
Web designer को हमेशा नए design trend के साथ बने रहने की आवश्यकता होती है. यह design consistency बनाये रखने के लिए भी महत्वपूर्ण होता है. Web development में आपको PHP, Python, C, NET और Ruby जैसी
Programming language का ज्ञान होना चाहिए.
इसके अंतर्गत डिजाइनर को क्लाइंट के goals,bugget और brand personaliy को समझना होता है. जिसके बाद इनचीजों को manage करते हुवे एक websiteका निर्माण करना होता है.Front & Back-end developers दोनों समानविकास वातावरण या एकीकृतविकास पर्यावरण (IDE) का उपयोग करते है. वेब डेवलपर्स SVN, CVS, Git जैसे tool का इस्तेमाल करते है

> PHP क्या है इसका क्या उपयोग है

Conclusion

तो उम्मीद है, अब आप समझ गए होंगे कि Web designing kya hai (वेब डिजाइनिंग क्या है) और इस क्षेत्र में आप अपने करियर की शुरुवात कैसे कर सकते है. अगर आपने पोस्ट को ध्यान पूर्वक पढा होगा तो हमने इसके कई दूसरे पहलुवों पर भी बड़े बारीकी से नजर डाली है. देखिए अगर आप सच मे web designing में आना चाहते है तो आपको काफी मेहनत की जरूरत है. यह सिर्फ इस बारे में नही है, की आपको इसे सीखना है बल्कि इसमें आपको काफी creative होने की जरूरत है. अगर आप इसमे निपुर्ण हो जाते है, तो यह बाकी किसी भी करियर से कई गुना ज्यादा बेहतर है, यहां से आप लाखो रुपये कमा सकते है.

अंत में आपसे एक निवेदन है, अगर आपके ज्ञान में इस लेख को वृद्धि हुवी हो, तो कृपया इसे Facebook और बाकी प्लेटफॉर्म पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे. जिससे उनके ज्ञान में भी कुछ वृद्धि हो. धन्यवाद

“हिंदी भाषा को इंटरनेट में हमारे साथ आगे बढ़ाने के लिए आपका दिल से धन्यवाद व शुक्रिया”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *