RAM क्या है और कितने प्रकार की होती है

इस लेख में आप जानेगें RAM क्या है (What is RAM in Hindi) ये तो हम सभी जानते है कि Computer और Mobile के hang होने का सबसे बड़ा कारण उसकी RAM कम होना है. यानी किसी device की better performance के लिए उसकी RAM (Random access memory) का space ज्यादा होना चाहिए.

RAM Kya Hai in Hindi

आजकल मार्केट में अधिक RAM वाले mobile phone की requirement होने लगी है. लेकिन क्या आप जानते है रैम क्या होती है इसका मोबाइल और कंप्यूटर में क्या काम होता है? ये ROM (Read-only memory) से क्यों अलग है? आमतौर पर RAM computer memory का ही एक part है.

जैसा हम जानते है, किसी भी computer device में memory दो तरह की होती है. Primary memory और secondary memory यहाँ RAM एक प्राथमिक स्टोरेज है. जबकि हार्ड डिस्क एक द्वितीयक मेमोरी है तो आइए अब रैम क्या है इस बारे में विस्तार से जाने.

रैम क्या है? (What is RAM in Hindi)

RAM की फुल फॉर्म “Random Access Memory” है, इसी को computer की Main Memory भी कहा जाता है. ये एक temporary storage होती है यानी device के Off होते ही इसमे store data अपने आप remove हो जाता है. इसके बाद उस डेटा को वापस नही लाया जा सकता. इसीलिये RAM को volatile memory भी कहते है. ये एक semiconductor और flip-flop से मिलकर बनी memory है.

उदाहरण से समझिए अगर आप अपने mobile की internal memory में store किसी file को open करेंगे तो वो फ़ाइल जिस मेमोरी के उप्पर run करती है वो RAM है. इसलिए जब हम अपनी device में एक साथ कई apps को चलाते है तो RAM में load बढ़ने के कारण हमारी device slow हो जाती है. आमतौर पर RAM दो प्रकार की होती है:

1. SRAM

SRAM का पूरा नाम है Static Random Access Memory. डिवाइस के बंद हो जाने पर इसमे मौजूद डेटा भी खो जाता है. ये data को fast access करती है इसलिए इसे cache memory भी कहा जाता है. SRAM, flip-flop से मिलकर बनी होती है इसलिए ये कम refresh होती है.

2. DRAM

DRAM का मतलब है Dynamic Random Access Memory. SRAM के compare में इसकी data read करने की speed थोड़ी low होती है जिसके कारण इसे बार-बार refresh करना पड़ता है. ये प्रति सेकंड में हजार बार रिफ्रेश होती है और SRAM के मुकाबले DRAM काफी low price की होती है. अधिकांश device में यही RAM उपयोग की जाती है.

RAM और ROM में अंतर क्या है

ये दोनों ही एक दूसरे से बिल्कुल अलग है. नीचे कुछ पॉइंट को पढ़कर आप समझ जायेंगे की इनके बीच क्या अंतर है.

RAMROM
RAM एक volatile memory है इसका मतलब हुआ कि इसमे store data temporary होता है. एक बार computer की power off हो जाने पर इसके द्वारा process किया गया data lost हो जाता है. ROM इससे बिल्कुल अलग है ये एक non-volatile memory है इसमे एक बार डेटा स्टोर कर देने के बाद बिना यूजर की इच्छा के उसे बदला नही जा सकता. ROM के उपयोग किसी device को program करने के लिए भी किया जाता है. डिवाइस बंद हो जाने पर भी डेटा खोता नही है.
यह कई gigabyte (GB) data को store कर सकती है. इसकी data store capacity आमतौर पर 1GB – 8GB और इससे ज्यादा भी हो सकती है. जबकि ROM के द्वारा megabytes (MB) में data को store किया जाता है.
इसका काम हमारे phone या computer में मौजूद program या process को run करने के लिए memory प्रदान करना होता है. वही ROM के द्वारा device में मौजूद apps, documents, videos, mp3, और files को unlimited time के लिए save करता है.
ये data को fast access करती है. जबकि ये रैम के मुकाबले data को तेजी access नही कर पाती है.

Conclusion

तो आपने जाना RAM क्या है (What is RAM in Hindi) उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़कर आप Random access memory के बारे जानकरी जुटा पाए होंगे. अगर आपको इससे सम्बंधित कोई सुझाव या सवाल हो तो कृपया नीचे comment कर जरूर बताये. अगर रैम की जानकारी ज्ञानवर्धक लगी हो तो इसे अपने Facebook और Instagram पर Share जरूर करे.

8 COMMENTS

  1. बहोत अच्छी जानकारी दी आपने रेम के बारे मे सुक्रिया

  2. Hii
    This is amazing article about RAM . Very helpful information for everyone which is gain more knowledge about RAM
    Thanks

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here