कंप्यूटर की विशेषताएं – Characteristics of Computer in Hindi

इस पोस्ट में हम कंप्यूटर की विशेषता क्या है- Characteristics of Computer in Hindi? इस बारे में जानेंगे। उम्मीद है, हमे आपको Computer का परिचय देने की कोई आवश्यकता नही है, क्योंकि हम सभी दैनिक जीवन मे इसका उपयोग ईमेल भेजने, गेम खेलने, और डॉक्यूमेंट टाइप करने के लिए करते है।

इसकी बेसिक कार्यप्रणाली को समझे तो Computer: यूजर द्वारा दिये गए निर्देशों (Commands) के अनुसार इनपुट डेटा की प्रोसेसिंग करता है और परिणाम को आउटपुट के रूप में प्रदर्शित करता है। हम सभी जानते है, कि Computer टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सबसे महान अविष्कारों में से एक है।

इसके महान इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनने के पीछे कंप्यूटर के गुण अथवा फीचर का बहुत बड़ा योगदान है। पोस्ट में आगे Computer की विशेषताओं का वर्णन किया गया है, जिन्हें आप विस्तार से पढ़ सकते है।

Characteristics of Computer in Hindi – कंप्यूटर की क्या-क्या विशेषता है?

Computer की विशेषताएं कई सारी है, जिनमें कुछ प्रमुख विशेषताएं (Characteristics) इस प्रकार है:

Characteristics of computer hindi

1. High Speed (उच्च गति)

एक मनुष्य किसी जटिल कैलकुलेशन को करने में अगर एक घन्टे का समय लेता है, तो Computer उसी कैलकुलेशन को कुछ ही Second में पूर्ण कर सकता है। वो इसलिए क्युकी Computer एक बेहद Super-fast Machine है और ये इसकी सबसे बड़ी विशेषता है। Computer की Speed को MIPS (Million of Instructions per Second) में मापा जाता है।

एक Computer में प्रति Second लाखों निर्देशों (Instructions) को निष्पादित करने की क्षमता होती है। इसका मतलब ये हुआ कि एक सामान्य गणितीय कैलकुलेशन को Computer कुछ ही Microsecond और Nanosecond में पूर्ण कर सकता है। तो Computer किसी भी टास्क को बहुत तेज परफॉर्म करता है जो इसकी एक मुख्य विशेषता भी है।

2. Accuracy (सटीकता)

Computer की दूसरी सबसे बड़ी विशेषता Accuracy है। इसके द्वारा की जाने वाली प्रत्येक कैलकुलेशन 100% Correct होती है। मनुष्य किसी भी कार्य को पूर्ण सटीकता से नही कर सकता उससे कुछ न कुछ गलतियां हो ही जाती है। इसके विपरीत Computer द्वारा निष्पादित किये गए कार्य में किसी भी प्रकार की त्रुटि (error) नही पायी जाती। अगर कभी परिणाम में कोई त्रुटि पायी भी जाती है, तो उसका कारण यूजर के द्वारा फीड किया गया गलत इनपुट है।

3. Storage Capacity (भंडारण क्षमता)

Computer में उच्च भंडारण क्षमता होती है, जिसके कारण ये बड़ी मात्रा में विभिन्न प्रकार के data को store कर सकते है। आमतौर पर कम्प्यूटरों में डेटा संग्रहित करने के लिये SSD (Solid-state drive) और Hard Drive का उपयोग किया जाता है। इन्हें सेकंडरी स्टोरेज डिवाइस कहते है। ये डेटा को स्थायी रूप से संग्रहित करती है जिसे जरूरत पड़ने पर आसानी से पुनर्प्राप्त (retrieve) किया जा सकता है।

एक Computer की Storage Capacity को Kilobytes (KB), Megabytes (MB), Gigabytes (GB), और Terabytes (TB) में मापा जाता है। आज एक Desktop Drive का स्टोरेज स्पेस अधिकतम 4TB तक होता है। तो जरा सोचिए अगर Computer डेटा संग्रहित करने में सक्षम नही होते तो क्या हम इनसे कैलकुलेशन के अलावा अन्य कोई कार्य करवा पाते।

4. Reliability (विश्वसनीयता)

Computer एक भरोसेमंद मशीन है, जिस पर लंबे समय तक विश्वास किया जा सकता है। यही कारण है कि आज बड़े-बड़े संगठन, संस्थान और कंपनियां अपने कार्यो के लिए Computer पर निर्भर है। इस पर भरोसे का मुख्य कारण ये है कि Computer अपने कार्यो को लगातार बिना किसी विफलता या त्रुटि के करता है। अर्थात प्रदर्शित किए जाने वाले आउटपुट की गुणवत्ता लगातार बनी रहती है। इसी कारण कंप्यूटर को Reliable Machine कहा जाता है।

5. Versatility (विविधता)

हम सभी जानते है, कि Computer विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकता है। इसलिए इसे Versatile Machine कहा जाता है। अर्थात Computer का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित समस्याओं को हल करने के लिए किया जा सकता है। उनका उपयोग स्कूलों, अस्पतालों, व्यवसायों, सरकारी संगठनों, रेलवे स्टेशनों, एयरपोर्ट और घरों में अलग-अलग उद्देश्यों के लिए जाता है। वे न केवल विज्ञान और इंजीनियरिंग से सम्बंधित जटिल गणितिय समस्याओं को हल कर सकते है, बल्कि अगले ही पल इन्हें मनोरंजन के लिये उपयोग किया जा सकता है। जिसे वे उसी सटीकता से करते है।

6. Diligence (कर्मठता या निरन्तरता)

हम मनुष्य किसी भी कार्य को लंबे समय तक नही कर सकते क्योंकि हमें कुछ समय बाद थकान और एकाग्रता की कमी महसूस होने लगती है। इसलिए बीच-बीच मे Break लेना हमारे लिये जरूरी हो जाता है। चूंकि Computer एक Machine है, इसलिए थकावट या बोरियत से इसका कोई लेना-देना नही होता जिस कारण ये दिन के 24 hours समान स्पीड और सटिकता के साथ कार्य कर सकता है। यही कारण है, कि आज मनुष्य कई कार्यो के लिए Computer पर निर्भर है।

7. Automation (स्वचालन)

Computer एक स्वचालित मशीन है, जो दिए गए कार्य को स्वचालित रूप से करने में सक्षम होते है। एक बार जब यूजर निर्देशों को Computer में फीड कर देता है, उसके बाद आउटपुट प्रदर्शित करने तक की प्रक्रिया Automatic है जिसमें मानव हस्तक्षेप की आवश्यकता नही होती है। इसका अर्थ ये हुआ कि Computer किसी कार्य के संचालन के लिये पूरी तरह से उपयोगकर्ता पर निर्भर नही होता है।

8. Multitasking (बहु-कार्यण)

ये Computer की एक बहुत बड़ी विशेषता है कि वे एक समय मे कई कार्य कर सकते है, इस प्रक्रिया को Multitasking कहा जाता है। उदाहरण के तौर पर देखे तो आप Internet surfing करते-करते Music play कर सकते है या Computer पर कई दूसरे एप्लीकेशन को एक समय मे संचालित किया जा सकता है। हालांकि Computer एक समय मे सिर्फ एक ही प्रोसेस को निष्पादित कर सकता है, परंतु ये कार्यो को तेजी से बदल सकता है। जिसके कारण हम कई एप्लीकेशन को एक समय मे उपयोग कर पाते है।

9. Remembrance Power (स्मरण शक्ति)

हम सभी जानते है कि Computer बड़ी मात्रा में विभिन्न प्रकार के डेटा को स्टोर कर सकते है। इसके अलावा इनकी एक खास विशेषता ये है कि Computer उस डेटा को कई सालों तक तक सुरक्षित संग्रहित करके रख सकते है। जिसे जरुरत पड़ने पर कभी भी पुनर्प्राप्त (recalled) किया जा सकता है। Remembrance power के कारण ही आप स्टोर डेटा को कभी भी वापस पा सकते है।

10. Quick Decision (त्वरित निर्णय)

उपयोगकर्ता द्वारा दिये गए निर्देशों पर Computer तुंरत निर्णय लेता है। उदाहरण के लिये जब आप Flash Drive को Computer में मौजूद USB port पर लगाते है, तो तुरंत ही आपको मॉनिटर स्क्रीन पर पॉप-अप दिखाई देने लगता है। निर्णय लेने में ये इतना तेज है कि जैसे ही उपयोगकर्ता द्वारा इसे कमांड दी जाती है, ये कुछ ही Nanosecond के भीतर उस पर प्रतिक्रिया दे सकता है।

11. Efficiency (कार्य-कुशलता)

Computer की कार्यकुशलता समय के साथ कम नही होती है। वे प्रत्येक टास्क को उसी efficiency के साथ कर सकते है। यहां तक कि अगर उन्हें लाखों निर्देशों को निष्पादित करने को दिया जाए, तो भी वे उन सभी को उसी स्पीड और कुशलता के साथ निष्पादित करने में सक्षम है। ये सब Computer Processor (CPU) के कारण सम्भव हो पाता है, जो किसी भी प्रोसेस को निष्पादित करने में कोई भेदभाव नही करता है।

12. Secrecy (गोपनीयता)

यदि आप अपने डेटा को दूसरों की पहुँच से दूर रखना चाहते है, तो Computer आपको उस डेटा को गुप्त रखने या छुपाने में मदद करता है। जिसमे आप Password की मदद से अपने डेटा को सुरक्षित रख सकते है। इसके अलावा Anti-malware Protection का उपयोग कर सकते है, जो विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर वायरस से आपके डेटा को सुरक्षित रखता है।

संक्षेप में

अभी आपने जाना Characteristics of Computer in Hindi – कंप्यूटर की विशेषता क्या है? उम्मीद है, पोस्ट पढ़ने के बाद आपको इसकी कई सारी विशेषताओं के बारे में जानकारी हो चुकी होगी। यदि पोस्ट में दी गई जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी हो तो इसे अपने Social Media पर Share जरूर करे ताकि अधिक से अधिक लोगों तक ये पोस्ट पहुँच पाए जिससे उनकी कंप्यूटर नॉलेज में कुछ बढ़ोतरी हो।



कंप्यूटर बेसिक से सम्बंधित अन्य महत्वूर्ण लेख पढ़ें:

कंप्यूटर की विशेषताओं को समझियेकंप्यूटर का इतिहास और विकास
कंप्यूटर का विभिन्न क्षेत्रों में उपयोगकंप्यूटर के विभिन्न प्रकारों का वर्णन
कंप्यूटर चलाना कैसे सीखेंऑपरेटिंग सिस्टम क्या है
कंप्यूटर के पार्ट्स और उनका कार्यसॉफ्टवेयर क्या है और इसके प्रकार
ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार और उनकी विशेषताकंप्यूटर पोर्ट्स और उनके उपयोग जानिए
इनपुट डिवाइस क्या होती हैआउटपुट डिवाइस क्या है
कंप्यूटर प्राइमरी मेमोरीकंप्यूटर सेकेंडरी मेमोरी
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम निर्मल सिंह खोलिया है ,और में इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ। मेने कंप्यूटर साइंस में स्नातक की हुयी है, और मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित जानकारी शेयर करना बेहद पसंद है। अगर आप टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर और इंटरनेट से संबंधित विषयो में रूचि रखते है, तो यह ब्लॉग आपके लिए ही बनाया गया है। मुझसे जुड़ने के लिए आप मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है।

2 COMMENTS

  1. आपने बहुत अच्छे से साड़ी चीजे संजय है यह बहुत अच्छा है।
    अगर आप अपनी ऑडियंस को कंप्यूटर से सम्बंधित और भी कंटेंट देना चाहते है तो मेरी साइट को एक बार चेक कीजिये अगर आपको कुछ पसंद आये तो प्लीज उसे अपनी साइट में लिंक करदिजियेगा इससे मेरी भी मदत होगी और आपकी ऑडियंस को अच्छा कंटेंट मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here